ठंड का कहर: दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में जारी है सर्दी का कहर, यूपी में 150 मौतें

0
498

दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, बिहार और जम्मू कश्मीर समेत पूरा उत्तर भारत कड़ाके की ठंड झेलने को मजबूर है। ठंड का आलम यह है कि उत्तर प्रदेश में अब तक 100 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। देश की राजधानी दिल्ली में मंगलवार को धूप जरूर निकली लेकिन ठंडी हवाओं की वजह से पारा गिरा जिसकी वजह से सर्दी में इजाफ हो गया है।
दिल्ली में कड़ाके की ठंड
दिल्लीवासियों को बुधवार सुबह कोहरे और ठंडी हवाएं चलने के कारण कड़ाके की सर्दी का सामना करना पड़ा। बुधवार सुबह न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस से कुछ ज्यादा दर्ज किया गया जो कल के 6.4 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 1.4 डिग्री कम है। यह तापमान इस सीजन के लिए सामान्य से दो डिग्री कम है। सुबह तेज हवाएं चलने के कारण भी लोग सर्दी से कांपते रहे। दिन चढ़ने के साथ धूप निकलने से थोड़ी राहत मिलने का अनुमान है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक दिन में आसमान साफ रहेगा।
अधिकतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस के ईद गिर्द रहने का अनुमान है। अगले 24 घंटों के दौरान पाला तथा शीतलहर का प्रकोप जारी रहने के आसार हैं। मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिनों में कड़ाके की ठंड से राहत की उम्मीद नहीं है। हालांकि दिन में धूप ने सर्दी से राहत प्रदान की लेकिन शाम होते ही हाथ-पैर सुन्न होने लगे। क्षेत्र में भीषण ठंड के कारण न्यूनतम पारा शून्य तक चला गया। हरियाणा में कोहरे तथा हाड़ कंपाती सर्दी से आम जनजीवन पर असर पड़ा। नारनौल का पारा 0.5 डिग्री तक नीचे चला गया तथा हिसार,करनाल और सिरसा का पारा तीन डिग्री तक रहा। कोहरे के कारण सड़क आवागमन प्रभावित रहा।
उत्तर प्रदेश में 150 मौतें
उत्तर प्रदेश में गलन भरी ठंड का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। ठंड का आलम यह है कि शाहजहांपुर में पारा 0.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। राज्य के कुछ इलाकों में आज निकली धूप के बावजूद लोग हाड़ कंपा देने वाली ठंड से परेशान रहे। राज्य के विभिन्न हिस्सों में कोहराजनित हादसों एवं ठंड से मृतकों की संख्या करीब 150 पहुंच गई है लेकिन किसी भी जिले का प्रशासन इन मौतों को ठंड से होने की पुष्टि नहीं कर रहा है। हल्की धूप से राहत के बाद मंगलवार को फिर कोहरे और गलन ने आम जनजीवन प्रभावित कर दिया। खून जमा देने वाली ठंड के चलते प्रदेश में 41 और लोगों ने दम तोड़ दिया। कानपुर और आसपास के जिलों में सर्दी से 33 लोगों की मौत हो गई।
जबकि बाराबंकी में दो मासूम समेत पांच तो लखीमपुर खीरी और आसपास के इलाकों में चार लोग कड़ाके की सर्दी के शिकार हो गए। बाराबंकी में न्यूनतम तापमान 2 डिग्री पहुंच गया। हरदोई का न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस और कानपुर, कन्नौज का न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस पर रहा। कानपुर में अकेले सर्दी से 13 मौतें हुईं, इसमें 10 की मौत कार्डियोलॉजी में हुई। हमीरपुर में नौ, कन्नौज में छह और बांदा, उन्नाव, इटावा, फतेहपुर व कानपुर देहात में एक-एक व्यक्ति की मौत सर्दी से हुई। उधर खीरी जिले के मितौली व हैदराबाद थाना क्षेत्र के एक-एक व्यक्तियों ने दम तोड़ दिया तो औरंगाबाद कस्बा निवासी रहीस खां की छप्पर में सोते समय ठंड से अकड़कर मौत हो गई।
राजस्थान में स्कूल का टाइम बदला
हिमाचल में भीषण शीतलहर का प्रकोप जारी है तथा कई स्थानों पर पारा जमाव बिन्दू से दस डिग्री तक नीचे चल रहा है । शिमला का पारा मैदानी इलाकों के बराबर रहा तथा शहर का पारा तीन डिग्री ,मनाली शून्य से नीचे चार डिग्री,कल्पा शून्य से नीचे चार डिग्री ,सुंदरनगर शून्य से कम एक डिग्री ,मंडी दो डिग्री ,धर्मशाला चार डिग्री,भुंतर शून्य से कम एक डिग्री,कांगडा दो डिग्री ,उना दो डिग्री ,और नाहन चार डिग्री रहा। राजस्थान में सर्दी के कारण जयपुर जिले में बुधवार से 13 जनवरी तक सभी स्कूल सुबह दस बजे खुलेंगे। अतिरिक्त जिला कलेक्टर (प्रथम) डॉ़ मोहनलाल यादव ने बताया कि मौसम विभाग के पूवार्नुमान एवं वर्तमान में कड़ाके की ठंड के मद्देनजर जिले के सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों के खुलने का समय नौ से तेरह जनवरी तक सुबह दस बजे से निर्धारित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.