अशोक चौधरी का जदयू से पुराना नाता, कम नहीं हो रहा लगाव

0
594

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी ने जदयू के मकर संक्राांति पर आयोजित दही चूड़ा भोज में जाकर नये विवाद को हवा दे दी है। चौधरी ने कहा कि जदयू से संबंध गलत नहीं है।
पटना । महागठबंधन के बिखरने के बावजूद कांगे्रस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ अशोक चौधरी का जदयू से लगाव कम नहीं हुआ है। इसे लेकर एक ओर महागठबंधन की शुरूआत करने वाली कांग्रेस में भी बयानबाजी हुई तो वहीं जदयू के भीतर भी इस मामले को लेकर प्रसन्नता हो सकती है।
बिहार में पार्टी की दशा और दिशा तय करने के लिए 13 को बुलाई गई शीर्ष कांग्रेसियों की बैठक में चौधरी ने जाने से तो परहेज किया, मगर अगले ही दिन जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह के दही- चूड़ा के भोज मेंं शिरकत कर सियासी चर्चाओं को हवा दे दी। वैसे चौधरी खुद, जदयू के साथ अपने संबंध को गलत नहीं मानते हैं।
अशोक चौधरी ने कहा कि जदयू से मेरा काफी पुराना संबंध हैं। जब 2000 में मंत्री था तो उस समय भी जदयू के नेताओं से मिलता जुलता था। दही-चूड़े का भोज सामाजिक पर्व है, इसमें शामिल होकर कोई गलती नहीं की। राजनीति के कारण व्यक्तिगत संबंध छोड़ा नहीं जा सकता है।
पार्टी छोडऩे की चर्चा पर उन्होंने कहा कि मेरा कोई भी निर्णय चोरी छिपे नहीं होगा। इसकी जानकारी सबको होगी। उनके विरुद्ध पार्टी तोडऩे के आरोप की चल रही जांच पर चौधरी ने कहा कि तीन माह से जांच चल रही है। कैसी जांच है जो अब तक पूरी नहीं हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.