जम्मू-कश्मीर: आरएस पुरा, अरनिया, सांबा में पाकिस्‍तान की फायरिंग, 2 लोगों की मौत, 7 घायल

0
363

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर में सीमा पर पाकिस्तान की नापाक हरकतें खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. पाकिस्तान ने शुक्रवार को भी आरएसपुरा सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन करते हुए गोलीबारी की है. शुक्रवार को पाकिस्तान की ओर से सुबह 6:30 बजे आरएसपुरा, अरनिया, रामगढ़, हीरानगर, सांबा में गोलीबारी की जा रही है. पाकिस्तान की तरफ से भारतीय सेना की 40 चौकियों और 50 गांवों को निशाना बनाते हुए फायरिंग की जा रही है. पाकिस्तान की ओर से की जा रही फायरिंग और मोर्टार दागने की वजह से 2 स्थानीय नागरिकों की मौत हो गई है. मरने वालों में एक महिला और एक मासूम बच्ची है. वहीं, सात अन्‍य लोग भी घायल हुए हैं.
भारतीय सेना का एक जवान शहीद
बुधवार देर रात पाकिस्तानी सेना ने सीजफायर का उल्लंघन करते हुए भारतीय सीमा पर गोलीबारी की थी. आरएस पुरा सेक्टर में की गई इस फायरिंग में सीमा सुरक्षा बल का एक जवान शहीद हो गया था, जबकि 3 जवान और तीन नागरिक घायल हुए थे. भारतीय जवानों ने अपने सैनिक की शहादत का बदला लेते हुए जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के तीन रेंजर्स को ढेर किया था. गुरुवार दोपहर तक यह फायरिंग कई पाकिस्तान की ओर से दागे गए गोले अरनिया क्षेत्र में गिरे और कई गांव भी इससे प्रभावित हुए थे.
PAK की गोलाबारी में 1 जवान शहीद, बदले में भारत ने 3 पाक रेंजर्स को मार गिराया
फायरिंग में पाकिस्‍तान आम लोगों और घरों को भी निशाना बना रहा है…
बुधवार की रात से फायरिंग
बीएसएफ के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान ने आरएस पुरा सेक्टर में बुधवार की रात करीब 11 बजे फायरिंग शुरू की. भारत की ओर से भी पाकिस्तानी चौकियों पर फायरिंग की गई थी. उन्होंने बताया कि इस फायरिंग में बीएसएफ का एक जवान मौके पर ही शहीद हो गया और तीन गंभीर रूप से घायल हुए. नियंत्रण रेखा के नजदीक बसे गांवों को भी पाकिस्तानी सेना ने निशाना बनाया, जिसमें तीन नागरिक घायल हुए थे. सभी घायलों का सेना के अस्पताल में उपचार चल रहा है.
चीन की चाल : भारत को घेरने के लिए PAK के ‘ग्वादर पोर्ट’ पर तैनात कर रहा है परमाणु पनडुब्बी
बॉर्डर पर हालात तनावपूर्ण
बुधवार देर रात से जारी फायरिंग के बारे में जानकारी देते हुए बीएसएफ के डीजी केके शर्मा ने गुरुवार को अपने बयान में कहा था कि भारतीय सेना पहले से ज्यादा तैयार है और पाकिस्तान ने इस जवाब को काफी नुकसान पहुंचाया है. डीजी ने अपने बयान में कहा, ‘बीएसएफ कभी शुरुआत नहीं करती लेकिन हमला हो तो जवाब देना हमें आता है. हेड कॉन्स्टेबल ए सुरेश का बलिदान बेकार नहीं जाने देंगे’. वहीं, सीमा के हालातों के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि भारत-पाकिस्तना की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हालात काफी तनावपूर्ण बने हुए है. भारतीय सेना पाकिस्तान को फायरिंग का करार जवाब दे रही है और अब तक पाकिस्तानी सेना की दो चौकियों को तबाह कर चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.