दिल्ली में 7 लाख दुकानें बंद, सीलिंग के खिलाफ कटोरा लेकर सड़क पर उतरे कारोबारी

0
570

नई दिल्ली (जेएनएन)। दिल्ली में व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में लगातार हो रही सीलिंग की कार्रवाई के विरोध में दिल्ली में सात लाख से अधिक दुकानें बंद हैं। सीलिंग के विरोध में दिल्ली के विभिन्न इलाकों में कारोबारी सड़क पर उतर आए हैं। वे हाथों में कटोरा लेकर दिल्ली नगर निगम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

बता दें कि व्यापारियों के संगठन कैट ने मंगलवार को दिल्ली व्यापार बंद करने का एलान किया है। कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) का मानें तो सुप्रीम कोर्ट के आदेश की आड़ में दिल्ली नगर निगम कानून 1957 के मूलभूत प्रावधानों को ताक पर रख सीलिंग की कार्रवाई की जा रही है।

मंगलवार सुबह से ही दिल्ली में जगह-जगह सीलिंग के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया है। कारोबारियों का कहना है कि सीलिंग के नाम पर एमसीडी दिल्ली के लोगों के साथ ज्यादती कर रहा है। वहीं, आम आदमी पार्टी ने व्यापारियों के साथ खड़े होने का एलान किया है। आम आदमी पार्टी आज सड़कों पर उतरेगी। पार्टी की तरफ़ से इस व्यापक बंद का नेतृत्व पार्टी के वरिष्ठ नेता और दिल्ली संयोजक गोपाल राय करेंगे।विपक्ष दल भाजपा ने भी बंद को समर्थन देने का एलान किया है। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि पार्टी व्यापारियों की पीड़ा समझती है, इसलिए व्यापारियों के दिल्ली बंद को पार्टी नैतिक समर्थन देगी। उन्होंने कहा है कि हम निगरानी समिति से व्यापारियों की समस्या को मानवीय दृष्टिकोण से देखने की अपील कर रहे हैं।वहीं, कारोबारियों को सीलिंग से किसी प्रकार की राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। मॉनिटरिंग कमेटी के आदेश पर सोमवार को दुकानें बंद होने के बावजूद उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने 124 संपत्तियों पर सीलिंग की कार्रवाई की।

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने हौजखास में 38 संपत्तियों पर सीलिंग की कार्रवाई की तो उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने केशवपुरम जोन में दो स्थानों पर 13 संपत्तियों को सील कर दिया। वहीं, पहाड़गंज जोन में गोखले मार्केट में दस संपत्तियों में सीलिंग की कार्रवाई हुई।नियमों के खिलाफ व्यावसायिक गतिविधि संचालित होने पर यहां बेसमेंट, प्रथम तल और द्वितीय तल पर सीलिंग की गई। सिविल लाइंस जोन में पांच दुकानों पर सीलिंग की कार्रवाई की गई। यहां पर भी बेसमेंट और प्रथम तल को सील किया गया।

इसके अलावा करोलबाग जोन के तहत रमेश नगर मार्केट, ओल्ड राजेंद्र नगर मार्केट, एमसीडी मार्केट, ओल्ड रमेश नगर मार्केट, न्यू रमेश नगर मार्केट में सीलिंग की कार्रवाई हुई। इन जगहों पर कुल 58 संपत्तियों पर सीलिंग की कार्रवाई की गई। करोलबाग में एक लोकल शॉपिंग कांप्लेक्स में भी सीलिंग की कार्रवाई होनी है। इसमें स्थित बैंकों की शाखाओं को दो दिन का समय दिया गया है।

निगम के अधिकारी का कहना है कि इन बैंकों ने संपत्ति के बेसमेंट में भी व्यावसायिक गतिविधियां संचालित की है। दो दिन में इन्हें अपना सामान यहां से निकालने के लिए कहा गया है।

इसके बाद इसे सील कर दिया जाएगा। करोलबाग में सीलिंग के दौरान निगम अधिकारी मानवता के आधार पर कुछ लोगों को सामान निकालने की मोहलत दे रहे थे, लेकिन कई जगह लोगों को मोहलत नहीं मिली।

कोई व्यक्ति डायरी और फाइल लेकर निकल रहा था तो कोई खाने के बर्तन और कंप्यूटर हाथ में लेकर बाहर निकल रहा था। कई स्थानों पर आधा दर्जन ऐसे कोचिंग संस्थान भी सील किए गए जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.