IND vs SA: जोहानिसबर्ग टेस्‍ट आज से, वाइटवॉश से बचने के लिए ये है विराट कोहली का प्‍लान

0
625

वॉन्डरर्स की 22 गज की पिच इस बार भी सबसे ज़्यादा चर्चा में है. यहां की पिच तेज गेंदबाज़ों की मददगार रही है. ऐसे में इस पिच पर इस बार भी तेज़ गेंदबाज़ मैच का नतीजा तय कर सकते हैं. मौजूदा सीरीज़ में भी गेंदबाज़ अपना काम कर रहे हैं लेकिन बल्लेबाज़ दक्षिण अफ्रीका की पिच पर बुरी तरह नाकाम रहे हैं. वहीं विराट कोहली तीसरे टेस्‍ट में हार से बचने और सीरिज में वाइटवॉश से बचने के लिए केवल तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकते हैं. इसके संकेत उन्‍होंने दिए हैं.

जोहानिसबर्ग में बुधवार से भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच सीरीज का तीसरा और आखिरी टेस्ट शुरू हो रहा है. टीम इंडिया की कोशिश खुद को वाइटवॉश से बचाना है और इसके लिए भारतीय कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री कई तरह के समीकरण फिट बैठाने की कोशिश में हैं. तीसरे टेस्ट में हार ना हो इसके लिए टीम और रणनीति में बदलाव सामने आ सकते हैं.

वॉन्डरर्स की 22 गज की पिच इस बार भी सबसे ज़्यादा चर्चा में है. यहां की पिच तेज गेंदबाज़ों की मददगार रही है. ऐसे में इस पिच पर इस बार भी तेज़ गेंदबाज़ मैच का नतीजा तय कर सकते हैं. मौजूदा सीरीज़ में भी गेंदबाज़ अपना काम कर रहे हैं लेकिन बल्लेबाज़ दक्षिण अफ्रीका की पिच पर बुरी तरह नाकाम रहे हैं. वहीं विराट कोहली तीसरे टेस्‍ट में हार से बचने और सीरिज में वाइटवॉश से बचने के लिए केवल तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकते हैं. इसके संकेत उन्‍होंने दिए हैं.

कोहली से पूछा गया कि क्या भारत केवल तेज गेंदबाजों के साथ उतरेगा, उन्होंने कहा, ‘‘कुछ भी होने की संभावना काफी प्रबल है। जैसे मैंने कहा कि पिच पर काफी घास है. हम निश्चित तौर पर इस विकल्प पर गौर करेंगे। मुझे पूरा विश्वास है कि दोनों टीमें इन विकल्पों पर गौर करेंगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘विदेशी दौरों पर हमने बहुत कम अवसरों पर दो टेस्ट मैचों में 40 विकेट हासिल किये. अगर गेंदबाज अपनी अच्छी भूमिका बरकरार रखते हैं तो इससे हमें फायदा मिलेगा। हमने अब तक 40 विकेट लिये हैं और हमें यह पता करने की जरूरत है कि इस टेस्ट मैच में भी 20 विकेट हासिल करने का सर्वश्रेष्ठ तरीका क्या हो सकता है. ’’

भारतीय बल्लेबाजों ने अब तक श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया और कोहली को उम्मीद है कि वे अपनी गलतियों से सबक लेंगे. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने श्रृंखला से पहले कहा था कि जो भी टीम अच्छी बल्लेबाजी करेगी वह श्रृंखला जीतेगी और अब तक ऐसा हुआ है. बल्लेबाज पहले दो मैचों की अपनी गलतियों में सुधार करने पर ध्यान दे रहे हैं. ’’

भारत अभी 124 अंकों के साथ विश्व की नंबर एक टीम है और वह दूसरे नंबर पर काबिज दक्षिण अफ्रीका से 13 अंक आगे हैं. अगर दक्षिण अफ्रीका क्लीन स्वीप करता है तो दोनों के समान 118 अंक हो जाएंगे लेकिन भारत दशमलव में गणना पर आगे रहेगा. कोहली ने कहा, ‘‘हम इस टेस्ट मैच को इस तरह से ले रहे हैं जिसमें हमें अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलनी है और पहले दो टेस्ट मैचों में जिस स्थिति में थे उसे और मजबूती प्रदान करनी है. ’’

भारत ने अब वांडरर्स में चार टेस्ट मैच खेले हैं और उसने यहां कोई मैच नहीं गंवाया है। इनमें 2013 का मैच भी है जो आखिर में रोमांचक ड्रा के रूप में समाप्त हुआ. कोहली ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि 2013 के मैच में दोनों टीमों और दर्शकों में से जो भी शामिल था उसके लिये वह काफी रोमांचक था. यह मेरे लिये और टीम के लिये यादगार टेस्ट मैच था क्योंकि हमने अच्छा स्कोर बनाकर दक्षिण अफ्रीका को अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलने के लिये मजबूर किया था. ’’

कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के वर्तमान दौरे को कड़ा सबक बताया और कहा कि उनकी टीम गलतियां नहीं दोहराएगी और बुधवार को नये सिरे से शुरूआत करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.