जून के आखिर तक एयर इंडिया को मिल जाएगा अपना नया मालिक: जयंत सिन्हा

0
526

नई दिल्ली
एयर इंडिया के नए मालिक का नाम जून के आखिर तक सामने आ जाएगा। सरकार का लक्ष्य है कि दिसंबर तक इससे जुड़ी सभी कानूनी कार्रवाई पूरी कर ली जाएं। इसके बाद नीलामी में जीतनेवाले को इसकी सम्पत्ति ट्रांसफर की जाएंगी। एयर इंडिया को पांच हिंस्सों में बांटा गया है। इनमें चार हिस्सों को बेचा जाएगा, जिनमें एक हिस्सा एयर इंडिया, एयर इंडिया एक्सप्रेस और एआई एसएटएस है, दूसरा हिस्सा ग्राउंड हैंडलिंग यूनिट, तीसरा हिस्सा इंजीनियरिंग यूनिट और चौथा हिस्सा अलायंस एयर है। जबकि पांचवे हिस्से एसवीपी को सरकार अपने पास रखेगी। एसवीपी में एयर इंडिया के अस्थिर कर्ज, सेंटॉर होटेल, भूमि और बेशकीमती आर्ट कलेक्शन है, जिसे एयर इंडिया ने कई साल में इकट्ठा किया है। एयर इंडिया पर करीब 50 हजार करोड़ रुपये का कर्जा है, जो करीब से समझने पर 70 हजार करोड़ रुपये भी हो सकता है। इसे पांच हिस्सों में बांटा जाएगा। बजट के एक दिन बाद उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा ने एयर इंडिया के विनिवेश का लेखा जोखा सामने रखा। इसे उन्होंने वेल्यू और रेवेन्यू के हिसाब से भारत में की गई ‘सबसे बड़ी’ एक्सरसाइज में से एक बताया। डिपार्टमेंट ऑफ इन्वेस्टमेंट ऐंड पब्लिक असेट मैनेजमेंट (डीआईपीएएम) के मुताबिक, सरकार को उम्मीद है कि जून के आखिर तक नीलामी का विजेता मिल जाएगा। यह प्रक्रिया इस साल के आखिर तक पूरी हो जाएगी।

उन्होंने बताया कि एयर इंडिया का विनिवेश तीन चरणों में पूरा होगा। उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा ने बताया, ‘हम जल्द ही चार हिस्सों के विनिवेश को लेकर इन्फॉर्मेशन मेमोरेंडम जारी करेंगे, जिसमें इससे संबंधित सभी जानकारियां होंगी। इसमें रुचि रखने वाली पार्टियां अपनी पसंदीदा यूनिट्स के लिए बोली लगाएंगी और सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले को वह सौंप दी जाएगी।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.