शर्मनाकः कार में लिफ्ट देकर 11वीं की छात्रा से गैंगरेप, दोस्त-रिश्तेदार पर आरोप

0
229

कासना में स्कूल से लौटते समय 11वीं की छात्रा को कार में लिफ्ट देकर तीन युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। उसे 11 घंटे तक बंधक बनाकर सड़कों पर घुमाते रहे। आधी रात को उसे सड़क पर फेंककर फरार हो गए। बुधवार को हुई इस वारदात में पीड़िता का सहपाठी और एक रिश्तेदार भी शामिल है। सोमवार को छात्रा के बयान एफआईआर दर्ज की गई।ग्रेटर नोएडा के पी-3 सेक्टर स्थित एक सोसाइटी में रहने वाली पीड़िता छात्रा कासना के एक स्कूल में 11वीं में पढ़ती है। पीड़िता का कहना है कि 18 अप्रैल को छुट्टी के बाद स्कूल बस मिस हो गई। दोपहर करीब ढाई बजे वह अपनी सहेली के साथ पैदल घर लौट रही थी। इसी दौरान एक कार उनके पास आकर रुकी। इसमें उसका सहपाठी अंकित, दूर का रिश्तेदार नवीन और एक अन्य युवक था। उन्होंने छात्रा को घर छोड़ने का झांसा देकर कार में बैठा लिया। फिर मुंह बांधकर चलती कार में तीनों ने गैंगरेप किया।
रेप पर मौत की सजाः कैबिनेट के अध्यादेश को मिली राष्ट्रपति की मंजूरी, POCSO एक्ट हुआ और सख्त, कानून लागू
शाम तक छात्रा घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने तलाश शुरू की। पता न चलने पर ग्रेटर नोएडा कोतवाली में अगवा होने की शिकायत की। पुलिस ने बताया कि 18 अप्रैल की रात करीब 2 बजे छात्रा नॉलेज पार्क में गलगोटिया कॉलेज के पास सुनसान सड़क पर पड़ी मिली। ग्रेटर नोएडा कोतवाली के एसएचओ राम भुवन सिंह का कहना है कि छात्रा के बयान पर गैंगरेप और पॉक्सो एक्ट की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है।
बरेली में आठ साल की बच्ची से रेप
सीबीगंज के सरनिया गांव में 14 साल के एक लड़के ने अपनी मौसेरी बहन के साथ दुष्कर्म किया। रात में दर्द और ब्लीडिंग होने पर लड़की ने घटना की जानकारी अपनी मां को दी। इसके बाद सुबह सीबीगंज थाने में आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म और पाक्सो एक्ट की रिपोर्ट दर्ज की गई है। पुलिस ने आरोपी लड़के को गिरफ्तार कर लिया है।
सीबीगंज के सरनिया गांव की रहने वाली लड़की कक्षा एक में पढ़ती है। उसी के मोहल्ले में उसका मौसेरा भाई रहता है। गेहूं की कटाई के बाद लड़के के घरवाले खेत पर भूसा ढो रहे थे। रविवार दोपहर दो बजे लड़का अपने घरवालों को खाना देने के लिये खेत पर जा रहा था। आम खिलाने के बहाने वह अपनी आठ साल की मौसेरी बहन को लेकर भी चला गया। उसने बहन को नीम के पेड़ के नीचे बैठा दिया। घरवालों को खाना देकर लौटने के बाद उसने छात्रा के साथ पेड़ के नीचे रेप किया। छात्रा का कहना है कि लड़का अपने साथ नारियल तेल का पाउच लेकर आया था। उधर से गुजर रहे राहगीर ने लड़के से पूछा कि यहां क्या कर रहो हो। इसके बाद लड़का छात्रा को लेकर नसीम के भिंडी के खेत में गया। वहां उसके साथ दुष्कर्म करने के बाद छात्रा को उसके घर छोड़ दिया।आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से नाबालिगों के साथ रेप की कई वारदातें सामने आई है। कठुआ और उन्नाव रेप कांड के बाद देश में उबले लोगों के गुस्से के बाद सरकार ने भी रेप जैसे संगीन अपराध के लिए पॉक्सो एक्ट को और भी कड़ा कर दिया। इसमें मौत की सजा तक का प्रावधान है, जो की अब लागू हो गया।
कानून के प्रावधान
12 साल से कम उम्र की बच्चियों से रेप के दोषी को कम से कम 20 साल या ता उम्र सजा या फिर मौत की सजा हो सकती है
12 साल से कम उम्र की बच्चियों के गैंगरेप के दोषियों को ताउम्र जेल की सजा होगी
12 से 16 साल की बच्चियों के साथ गैंगरेप पर दोषियों को पूरी उम्र जेल में गुजारनी होगी
16 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ रेप को दोषी को कम से कम 20 साल की सजा होगी, ताउम्र भी बढ़ाया जा सकता है
16 साल से अधिक उम्र की बच्ची के रेप के केस में कम से कम 10 साल की सजा, ताउम्र भी बढ़ाया जा सकता है
रेप के सभी केस की जांच दो महीने में पूरा करना जरुरी होगा
अपील को 6 महीने के भीतर निबटाना होगा
16 साल से कम उम्र की बच्ची के रेप के केस में अग्रिम जमानत नहीं मिलेगी
रेप केस की सुनवाई के लिए नए फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाए जाएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.