शिमला: सीबीआई ने सुलझाया कोटखाई दुष्कर्म मामला, एक आरोपी गिरफ्तार

0
282

नई दिल्ली
सीबीआई ने शिमला के कोटखाई इलाके में एक नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म और हत्या के नौ महीने पुराने मामले को सुलझाते हुए हिमाचल प्रदेश के 25 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी कि गिरफ्तार व्यक्ति के डीएनए का घटनास्थल से बरामद अनुवांशिक सामग्री से मिलान हो गया है। अदालत ने आरोपी को पांच मई तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। सीबीआई ने इस मामले में 100 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की थी।सीबीआई के मुख्य सूचना अधिकारी अभिषेक दयाल ने बताया, ‘इस मामले में गुनहगार बचने न पाए, इसलिए जांच एजेंसी ने धीरे-धीरे और जनता की छान-बीन से दूर रहते हुए अपनी जांच पूरी की। आरोपी को 13 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। आज उसे अदालत में पेश किया गया। कोर्ट ने उसे 7 मई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।’पिछले साल जुलाई में कोटखाई के जंगलों में लड़की का शव बरामद होने के बाद चुनावी प्रदेश में राजनीति गरमा गई थी और यह एक बड़ा राजनीतिक मुद्दा बन गया था। स्थानीय पुलिस ने संदेह के आधार पर कुछ लोगों को गिरफ्तार किया था। लेकिन झूठ पकड़ने की मशीन से जांच के बाद उन्हें बरी कर दिया था। सीबीआई ने अब अनिल कुमार नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि अनिल कुमार का डीएनए घटनास्थल और शव से बरामद अनुवांशिक सामग्री से 100 प्रतिशत मिलता है।अधिकारियों ने कहा कि संदिग्ध हिमाचल प्रदेश का ही निवासी है लेकिन वह दूसरे क्षेत्र से है। अपराध के बाद वह छिप कर रह रहा था। बता दें कि जुलाई 2017 में 16 साल की एक बच्ची की कोटखाई में रेप के बाद निर्मम हत्या कर दी गई थी। लोगों के गुस्से को देखते हुए सरकार ने सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। हालांकि, सीबीआई के हाथ में केस जाने से पहले ही कोटखाई पुलिस स्टेशन के अंदर 6 में से एक आरोपी की मौत हो गई थी।गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट ने इसी साल 28 मार्च को सीबीआई को कोटखाई रेप-मर्डर केस में सुस्त जांच के लिए फटकार लगाई थी। अदालत ने सीबीआई से नया हलफनामा दाखिल करने और 18 अप्रैल को पेश होने के लिए कहा था। एजेंसी ने इस मामले में 100 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की थी। एजेंसी ने जिन लोगों से पूछताछ की है, उनमें कुछ राज्य सरकार के प्रभावशाली अधिकारियों के रिश्तेदार भी थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.