टले दो बड़े हवाई हादसे: लखनऊ में लैंडिंग के दौरान लहराए विमान, बाल-बाल बचे यात्री

0
278

लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर बुधवार को दो बड़े हादसे टल गए। करीब 250 यात्रियों की जान पायलटों की सूझबूझ से बच गई। मुम्बई से आ रही एक उड़ान रनवे पर उतरने बाद के गर्म हवा के झोंके के असर से तेजी से बाईं तरफ झुक गई। इसके बाद विमान दाईं तरफ झुकने लगा। जैसे-तैसे पायलट ने इसको काबू में किया। इसके ठीक 10 मिनट पहले दिल्ली से आ रही गो एयर की ही एक अन्य उड़ान रनवे पर उतरते-उतरते रह गई। विमान जैसे ही रनवे पर उतरने जा रहा था गर्म हवा के एक झोंके ने विमान को अपनी जद में ले लिया। ऐसे में यदि पायलट विमान उतारता तो वह पलट भी सकता था। सूझबूझ का परिचय देते हुए पायलट ने विमान को वापस उड़ा लिया।यात्रियों के अनुसार विमान ने पहले हवा में कई चक्कर काटे। इसके बाद 1:10 बजे विमान रनवे की तरफ बढ़ा। रनवे पर उतरते ही विमान पीछे की तरफ लहरा गया। एविएशन विशेषज्ञों के अनुसार इसको ‘टेलविंड लैंडिंग’ कहते हैं। हवा के झोंकों की वजह से विमान पीछे की तरफ लहराने लगता है। जरा सी चूक में विमान टुकड़े-टुकड़े हो सकता है। मुम्बई-लखनऊ की यह उड़ान तेजी से बाएं फिर दाएं झुकी लेकिन पायलट ने काबू कर लिया। इस दौरान कई यात्रियों की चीखें निकल गईं।
रनवे को छू कर उड़ गया विमान
गो एयर की उड़ान संख्या जी8-268 में बैठे यात्री उस वक्त हैरान रह गए जब विमान रनवे को छूकर वापस उड़ गया। घटना बुधवार के दिन एक बजे की है। इसके बाद विमान ने एक लम्बा चक्कर लगाया और वापस सकुशल रनवे पर उतर गया। एयरपोर्ट के विशेष कार्याधिकारी संजय नारायण ने बताया कि हवा के तेज झोंके की वजह से विमान को उस समय उतारना पायलट ने सुरक्षित नहीं समझा। इस मौसम में ऐसा अक्सर हो जाता है। बहरहाल, रनवे को छूकर वापस उड़ने के नौ मिनट बाद विमान वापस सकुशल उतर गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.