परेशानीः तपती गरमी में शताब्दी ट्रेन का जेनरेटर खराब, तंदूर बने कोच में यात्री बेहाल

0
442

कानपुर से नई दिल्ली जा रही कानपुर शताब्दी एक्सप्रेस (12033) का जेनरेटर सेट सोमवार सुबह पनकी स्टेशन पार करते ही फेल हो गया। इससे ट्रेन के कोच तपने लगे। बेहाल यात्रियों ने कई बार कोच कंडक्टर से शिकायत की। समस्या का समाधान न होने पर यात्रियों का धैर्य टूटा तो चेनपुलिंग कर दी। इससे ट्रेन इटावा स्टेशन से पहले ही मेन लाइन पर खड़ी हो गई। वीआईपी ट्रेन के मेन रूट पर खड़े होने से अफसरों में हड़कंप मचा गया। अब मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं।कानपुर सेंट्रल से शताब्दी एक्सप्रेस एक नंबर प्लेटफॉर्म से अपने तय समय सुबह 6 बजे रवाना हुई थी। आधे घंटे बाद पनकी स्टेशन पार करते ही गार्ड के डिब्बे से सटा जेनरेटर सेट ट्रिप कर दिया। इससे देखते ही देखते हर कूपे में गर्मी से यात्री परेशान होने लगे। आरोप है कि कोच कंडक्टरों से शिकायत करने पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। नाराज यात्रियों ने सी-7 कोच से चेनपुलिंग कर दी तो ट्रेन इटावा स्टेशन के पहले ही आउटर पर खड़ी हो गई। धड़धड़ाते हुए यात्री ट्रेन से उतर गए। यह देख गार्ड और ड्राइवरों ने रेलवे कंट्रोल रूम को सूचना ही।सुबह लगभग 7:42 बजे ट्रेन रुकने की सूचना पर अफसरों में भी हड़कंप मच गया। तत्काल ट्रेन में मौजूद इलेक्ट्रिशीयन स्टाफ को सूचना दी गई। उन्होंने किसी तरह जेनरेटर को ठीक कर चालू किया। इसके बाद 8:02 बजे ट्रेन वहां से चली। एनसीआर के पीआरओ अमित मालवीय ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि जेनरेटर खराब होने से सभी कूपों के एसी बंद हो गए थे। 10-15 मिनट में जेनरेटर ठीक कर लिया गया।
सी-3 और सी-11 में तीन बच्चों की तबीयत बिगड़ी
शताब्दी एक्सप्रेस का एसी फेल होने से सी-3 कूपे में सफर कर रहीं मालती चौहान के बेटे रानू (6) और रोहित खन्ना की बेटी मान्या (8) की तबीयत गर्मी और उमस से बिगड़ गई। इसी तरह सी-5 कूपे में राजेश्वर प्रसाद की बेटी सुपर्वा की तबीयत गर्मी की वजह से बिगड़ गई। इन यात्रियों ने कोच कंडक्टर से लिखित शिकायत कराई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.