मनीष सिसोदिया की तबीयत भी बिगड़ी, LNJP अस्‍पताल ले जाया गया, केजरीवाल अभी भी डटे

0
496

नई दिल्ली: आठ दिन से उपराज्‍यपाल के घर अनशन पर बैठे दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन को रविवार रात को तबीयत बिगड़ने पर दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री को एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया. ख़ुद केजरीवाल ने ट्वीट कर ये जानकारी दी. वहीं आम आदमी पार्टी के नेता और हज़ारों कार्यकर्ता रविवार शाम दिल्ली की सड़कों पर उतरे. पीएम आवास का घेराव करने के लिए ये लोग मंडी हाउस पर जुटे और पीएम हाउस की ओर बढ़ने लगे. लेकिन पुलिस ने इन्हें संसद मार्ग से आगे नहीं बढ़ने दिया और यहीं पर मार्च ख़त्म हो गया. आम आदमी पार्टी के इस मार्च को सीपीएम का भी साथ मिला. सीपीएम कार्यकर्ताओं के साथ सीताराम येचुरी ख़ुद इस मार्च में शामिल हुए. बीजेपी के बाग़ी शत्रुघ्न सिन्हा और डीएमके नेता एम के स्टालिन ने भी इस मार्च का समर्थन किया. मार्च के दौरान दिल्ली के 5 मेट्रो स्टेशनों को बंद रखा गया था. वहीं आईएएस अफ़सरों की हड़ताल को लेकर धरने पर बैठे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अधिकारियों को सुरक्षा का भरोसा दिलाया है. अधिकारियों से अपील करते हुए कहा कि अधिकारी काम पर आएं उन्हें डरने की ज़रूरत नहीं है. वो मेरे परिवार का हिस्सा हैं. वो चुनी हुई सरकार का विरोध बंद करें. इससे पहले दिल्ली आईएएस एसोसिएशन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली सरकार के इस दावे का खंडन किया कि अधिकारी हड़ताल पर हैं और काम नहीं कर रहे. IAS एसोसिएशन ने कहा कि हम हड़ताल पर नहीं हैं. हम निष्पक्ष हैं और हमारा राजनीति से कोई लेना देना नहीं है.

– बीते छह दिनों से अनशन पर चल रहे दिल्‍ली के उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया की भी तबीयत बिगड़ी, एलएनजेपी अस्‍पताल ले जाया जा रहा है. मनीष सिसोदिया के शरीर में कीटोन लेवल 6.4 से 7.4 तक बढ़ गया है. इससे पहले स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सतेंद्र जैन को एलएनजेपी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था.

– आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि अगर IAS Association कोई पहल करते हैं, तो हम उसका स्वागत करते हैं. उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस को निश्चित रूप से सोचना चाहिए जब जब मणिपुर, उत्तराखंड में लोकतंत्र की हत्या हुई सबसे पहले आप ने कांग्रेस से पहले आवाज़ उठाई. दिल्ली में लोकतंत्र की हत्या हो रही है और कांग्रेस की यह चुप्पी राजनैतिक इतिहास में काले अक्षरों में लिखी जाएगी. उन्‍होंने कहा कि दिल्ली के जनता के बीच जाएगी आम आदमी पार्टी, कल से शुरू हो रहा है वृहद स्तर पर जनसंपर्क व डोर टू डोर अभियान शुरू करेगी. कल जिस तरह पूरी दिल्ली सड़क पर थी, लोगों ने यह स्पष्ट कर दिया है कि यदि यह हड़ताल खत्म नही हुई और दिल्ली के लोगों से सीधे जुड़े काम नही शुरू हुए तो पूरी दिल्ली सड़क पर उतारने को तैयार है.

– आप के बागी नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल जी हाइकोर्ट के डंडे खाने के बाद अब बची कुची इज्ज़त लेकर उस सोफ़े से अपनी तशरीफ़ उठाइए. हाइकोर्ट के डंडे से नहीं समझे तो जनता का डंडा चलेगा. जैसे आपको असेम्बली आने पर मज़बूर कर दिया था वैसे ही उस सोफ़े से उठा कर मानेंगे.

– आप नेता अशीष खेतान ने कहा, सतेंद्र जैन जी के शीघ्र स्‍वास्‍थ्‍य-लाभ के लिए आज पार्टी ऑफिस पर हम शाम पांच बजे प्रार्थना सभा कर रहे हैं, आप सभी आमंत्रित हैं. मैं आज सुबह अस्‍पताल में सतेंद्र जी से मिला और उनका हाल-चाल जाना, डॉक्टरों ने मुझे बताया कि यदि उन्हें लाने में थोड़ी भी देर होती तो उनकी किडनी फेल हो जाती है.

– दिल्‍ली में नेता विपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि जब कोई अफ़सर हड़ताल पर है ही नहीं तो केजरीवाल धरना किस बात की दे रहे हैं.

– केजरीवाल को शिवसेना का समर्थन भी मिला है. शिवसेना नेता संजय राउत ने बताया कि उद्धव ने भी केजरीवाल से बात की है.

– तबीयत बिगड़ने पर दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री को LNJP अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल के मुताबिक रात दो बजे के बाद उनकी सेहत में सुधार हो रहा है. उनके ब्लड प्रेशर, कीटोन स्तर में भी सुधार देखा जा रहा है. हालांकि उन्हें अभी ICU में ही रखा गया है. डॉक्टर उन्हें जूस पीने की सलाह दे रहे हैं लेकिन वो मान नहीं रहे. डॉक्टरों के मुताबिक उन्हें अभी एक दो दिन अस्पताल में ही रखना होगा. सेहत में और सुधार के बाद उन्हें जनरल वार्ड में शिफ्ट किया जाएगा.

– केजरीवाल के धरने पर हाईकोर्ट का सवाल, समझ नहीं पा रहे ये धरना है या हड़ताल है. कोर्ट ने कहा कि हड़ताल की किसने इजाज़त दी? क्या LG हाउस में बैठना मान्य है? हाईकोर्ट ने कहा कि इस संकट का समाधान ज़रूरी है.

– सोमवार दोपहर 12 बजे सीएम अरविंद केजरीवाल के घर पर आप नेताओं ने बैठक बुलाई

– आप के बागी विधाय‍क कपिल मिश्रा ने ट्वीट करके कहा है कि आज हमारे अनशन का चौथा दिन है. वज़न कम हो गया है, मनोबल और बढ़ गया है. शारीरिक तौर से कमज़ोर हो गये हैं और मानसिक रूप से और मज़बूत! हम अरविंद केजरीवाल का ग़रूर तोड़ेंगे और दिल्ली को पानी दिलवा कर रहेंगें!!

– आम आदमी पार्टी के धरन के पर केन्‍द्र मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने कहा कि करने में जीरो और धरने में हीरो, करना कुछ नहीं धरना सब कुछ है. उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली की जनता ने उन पर जो विश्‍वास जताया था उसका बर्बाद करने में लगे हैं.

– शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने दूसरे ट्वीट में कहा कि अरविंद केजरीवाल की अपील के बाद मुझे विश्‍वास है कि पीएम मोदी भी हस्तक्षेप करेंगे और हड़ताल खत्म कर देगा. उनका यह कदम दिल्‍ली के लोगों के लिए और लोकतंत्र के लिए एक अच्छा कदम होगा. एक हजार मील की यात्रा एक ही चरण से शुरू होती है. जय हिंद!
– हमारे प्यारे दोस्त, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कूटनीति का परिचय दिया और अधिकारियों से अपील की है कि वह काम पर वापस आएं. उन्‍होंने दो कदम बढ़ाए और आशा है कि नौकरशाहों की तथाकथित हड़ताल अब खत्म हो जाएगी. जय हिन्द!
– दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है. उन्‍होंने कहा कि बीती रात सत्येंद्र जैन का कीटोन लेवल बढ़ गया और उन्हें सिर दर्द, बदन दर्द, सांस लेने में दिक़्क़त और पेशाब में दिक़्क़त होने लगी. इसलिए, उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. अब उनकी हालत ठीक है.आज मनीष सिसोदिया के अनशन का छठा दिन है. वो ठीक हैं.

– केजरीवाल और उनके सहयोगियों के एलजी हाउस में चल रहे धरने के ख़िलाफ़ एक जनहित याचिका पर दिल्ली हाइकोर्ट आज सुनवाई करेगा. जनहित याचिका में कहा गया है कि मुख्यमंत्री और मंत्री हड़ताल नहीं कर सकते क्योंकि वो संवैधानिक पदों पर होते हैं. इसलिए हड़ताल को असंवैधानिक और ग़ैरक़ानूनी क़रार दिया जाए. याचिका में ये भी कहा गया है कि मुख्यमंत्री को ज़िम्मेदारी निभाने का आदेश दिया जाए क्योंकि हड़ताल की वजह से दिल्ली का सारा कामकाज ठप हो गया है.

– हाइकोर्ट में एक और याचिका दायर कर मांग की गई है कि वो दिल्ली सरकार के आईएएस अफ़सरों की हड़ताल ख़त्म करने का आदेश दे.

– नीति आयोग की बैठक में भी दिल्ली के सियासी संकट का मुद्दा गूंजा. पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और केरल के मुख्यमंत्रियों ने पीएम मोदी से मिलकर दिल्ली सरकार की समस्याओं पर बात की. और तत्काल इस समस्या के समाधान की अपील की.
– केजरीवाल अपने एक ट्वीट को लेकर बुरे फंस गए. रविवार को उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि किस नियम के तहत एलजी नीति आयोग की बैठक में शामिल हुए हैं. मैंने उन्हें अपनी जगह जाने की इजाज़त नहीं दी. जवाब में नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने उनके दावे को सिरे से ख़ारिज करते हुए कहा कि एलजी इस बैठक में शामिल नहीं हुए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.