पाक का है खूनी इतिहास: जानें पिछले कुछ वर्षों के दौरान हुए बड़े आतंकी हमले

0
193

पेशावर में चुनावी सभा के दौरान हुआ हमले में एक स्थानीय बड़े नेता समेत चौदह लोगों की मौत ने पूरे पाकिस्तान के सन्न करके रख दिया है। लेकिन, पाकिस्तान के खूनी इतिहास बहुत पुराना है। आइये देखते हैं पिछले कुछ वर्षों के दौरान पाकिस्तान में हुए बड़े हमले-
-15 मार्च 2018- पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ के आवास पर विस्फोट, 4 पुलिसकर्मियों सहित आठ की मौत
-12 अगस्त 2017- पाकिस्तान के क्वेटा में हुए विस्फोट में 17 की मौत
-19 जनवरी, 2016- पेशावर में पुलिस चेक पोस्ट के पास धमाका, 11 की मौत; 20 घायल
-13 जनवरी, 2015 – बलूचिस्तान के लोरालाई जिले में आतंकवादियों ने हमला कर 7 सुरक्षा जवानों की हत्या कर दी थी जबकि 2 अन्य घायल हो गए थे।
-30 जनवरी, 2015- दक्षिणी पाकिस्तान में शिया मस्जिद पर हुए बम विस्फोट में कम से कम 53 लोग मारे गए थे।
-13 फरवरी, 2015- तालिबान आतंकवादियों ने पेशावर में एक शिया मस्जिद पर हमला कर दिया था जिसमें 19 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी
-15 मार्च, 2015- तहरीक-ए-तालिबान ने दो चर्चों ने योहानाबाद में दो चर्चों को निशाना बनाकर दो आत्मघाती हमलावरों ने हमला किया और इसमें 14 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी जबकि 70 अन्य लोग घायल हो गए थे।
-13 मई, 2015- आठ बंदूकधारियों ने कराची में एक बस पर हमला कर 46 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। मृतकों में अधिकतर इस्लामी शिया समुदाय के लोग थे।
-19 अक्टूबर, 2015- क्वेटा, ब्लूचिस्तान में एक बस में बम धमाका हुआ 11 लोगों की मौत और 22 घायल हो गए थे।
-16 दिसबंर, 2014- तालिबान आतंकियों ने पेशावर के आर्मी पब्लिक स्कूल पर हमला किया था जिसमें 132 स्कूली बच्चों सहित 141 लोगों की मौत।
-2 नवंबर 2014- वाघा बार्डर पर आत्मघाती हमला, 60 लोगों की मौत जबकि 110 लोग घायल हो गई थी, किसी भी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली थी।
-8 जून, 2014- शिया तीर्थयात्रियों को ले जा रही एक बस पर ब्लूचिस्तान में आतंकियों का हमला कम से कम 24 लोगों की मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.