परवेज मुशर्रफ ने देश से निकाला था, फिर बने प्रधानमंत्री, ऐसा है नवाज शरीफ का इतिहास

0
237

पनामा पेपर लीक मामले में सजा पाने वाले पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज को लाहौर एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया है। पनामा पेपर लीक मामले में खुलासे के बाद पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने नवाज शरीफ को 10 साल और उनकी बेटी मरियम को 7 साल कैद की सजा सुनाई गई है। आज से करीब 18 साल पहले नवाज शरीफ को पाकिस्तान से निकाला गया था लेकिन उसके सात साल बाद 2013 में वह ना सिर्फ पाकिस्तान लौटे बल्कि वहां के प्रधानमंत्री बने। जानें नवाज शरीफ के राजनीतिक इतिहास के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें :
पहले कार्यकाल में ही राष्ट्रपति से विवाद
-1990 में नवाज शरीफ प्रधानमंत्री नियुक्त किए गए।
-1993 में राष्ट्रपति गुलाम इस्हाक खान से उनका विवाद हुआ।
-राष्ट्रपति ने नेशनल असेंबली को ही भंग कर दिया।
-बाद में सुप्रीम कोर्ट में जीत हासिल कर नवाज ने फिर से पाकिस्तान की सत्ता संभाली।
-मगर सेना के हस्तक्षेप के बाद इस्तीफा दे दिया, साथ ही राष्ट्रपति को भी पद छोड़ना पड़ा।
मुशर्रफ ने किया देश से बाहर
-1999 में सेनाध्यक्ष जनरल परवेज मुशर्रफ ने तख्तापलट किया।
-नवाज शरीफ को उम्रकैद की सजा सुनाई गई।
-2000 में सऊदी अरब में परिवार समेत निर्वासन की अनुमति मिली।
-2007 में निर्वासन से वापस लौटने की कोशिश की।
-मगर हवाई अड्डे से ही सऊदी अरब भेज दिया गया।
-सऊदी के सुल्तान के हस्तक्षेप के बाद नवाज वापस पाकिस्तान लौटे।
-2013 में बहुमत हासिल कर तीसरी बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने।
आरोपों से पुराना नाता
-1992 में को-ऑपरेटिव सोसाइटी घोटाले में नवाज का नाम जुड़ा। इस घोटाले में 7 लाख लोगों की जमा-पूंजी डूब गई थी।
-1999 में सैन्य तख्तापलट के बाद सेना ने नवाज शरीफ पर भ्रष्टाचार, साजिश रचने, अपहरण और हत्या के मामले चलाए।
-1999 में ही उन पर 10 लाख डॉलर का हेलीकॉप्टर खरीदने के वक्त टैक्स चोरी का आरोप लगा।
-4 लाख अमेरिकी डॉलर का जुर्माना और 14 साल की सजा सुनाई गई।
-2016 में पनामा पेपर लीक मामले में नवाज का नाम सामने आया।
-एवेन फील्ड भ्रष्टाचार मामले में उन्हें 10 साल की समरियम नवाज : माना जा रहा है कि बेटी को पार्टी में स्थापित करने के लिए ही नवाज शरीफ ने वापस लौटने का जोखिम उठाया है। मगर नवाज के साथ सजा सुनाए जाने के बाद एनए-127 सीट से नामांकन वापस लिया
शाहबाज शरीफ : मरियम और नवाज के जेल जाने पर शाहबाज को उनका उत्तराधिकारी माना जा रहा है, लेकिन पार्टी पर उनकी पकड़ मजबूत नहीं है।
आज गिरफ्तार होंगे नवाज शरीफ, पत्नी के साथ ये इमोशनल फोटो हो रही वायरल
पाकिस्तान में पहले भी कई नेता गए जेल
बेनजीर भुट्टो :
-1999 में भ्रष्टाचार के आरोप में पांच साल की सजा सुनाई गई थी।
-50 लाख पाउंड का जुर्माना लगाया गया था।
– इस आरोप के चलते बेनजीर 8 साल तक देश से बाहर रहीं थी, 2007 में लौटीं थीं।
आसिफ अली जरदारी:
-1997 में जेल में रहते हुए ही आसिफ अली ने चुनाव जीता।
-भ्रष्टाचार के आरोप में 8 साल तक जेल में रहे।
-2005 में पाकिस्तान छोड़कर दुबई चले गए।
गिरफ्तारी से पहले बोले नवाज, आवाम के लिए कुर्बानी दे रहा हूं
परवेज मुशर्रफ:
-2013 में पाकिस्तान लौटने पर घर में ही नजरबंद किया गया, बाद में जेल भेजा गया।
-परवेज मुशर्रफ पर बेनजीर भुट्टो की हत्या से जुड़े होने का मामला चला था।
-राष्ट्रीय उत्तराधिकारी ब्यूरो ने मुशर्रफ और उनकी पत्नी को नोटिस भेजा।
-फिलहाल परवेज मुशर्रफ खुद से ही पाकिस्तान छोड़कर दुबई में जिंदगी बिता रहे हैं।
यूसुफ रजा गिलानी :
-2001 में भ्रष्टाचार के आरोप में जेल भेजा गया।
-अक्तूबर 2006 में जेल से रिहा हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.