सिर्फ पटना आसरा गृह नहीं कई और भी एनजीओ चलाती हैं मनीषा दयाल, आप भी डालिए एक नजर

0
477

पटना: पटना आसरा गृह में दो लड़कियों के मौत के मामले में आश्रय गृह की संचालिका मनीषा दयाल को गिरफ्तार कर लिया गया है. मनीषा दयाल की श्याम रजक और पूर्व मंत्री शिवचन्द्र राम (RJD) और आजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी के साथ तस्वीर धड़ल्ले से वायरल हो रही है.

साथ ही आपको बता दें कि मनीषा दयाल सिर्फ पटना आसरा गृह नहीं बल्कि कई और भी एनजीओ चलाती हैं. पुलिस गिरफ्तारी के बाद अब पूरी जांच पड़ताल कर सकती है. मनीषा दयाल के एनजीओ की पूरी लिस्ट है जिसपर आप भी नजर डालें:

1. आसरा होम्स को चला रही हैं और अनुमाया हयूमेन रिसोर्सेज फाउंडेशन की डायरेक्टर हैं.
2. मनीषा दयाल एनजीओ आत्मा फाउंडेशन की बोर्ड मेंबर हैं.
3. भामा शाह फाउंडेशन ट्रस्ट एनजीओ की कमिटी मेंबर है मनीषा
4. एनजीओ स्पर्श डी एडीक्शन एंड रिसर्च सोसायटी में ये काउंसलर हैं मनीषा दयाल
5. इससे पहले मनीषा दयाल नव असत्तिव फाउंडेशन की प्रोजेक्ट मैनेजर रह चुकी हैं

इससे साफ पता चलता है कि मनीषा दयाल के पास एनजीओ में कामकाज का अच्छा खासा अनुभव है लेकिन फिर भी उनके द्वारा संचालित एनजीओ में पुलिस ने ना सिर्फ कई कमियां पाई थी बल्कि उसे सुधारने को लेकर जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए थे. इसके दो दिनों के बाद ही पटना आसरा गृह में दो लड़कियों की मौत हो गई.

पुलिस फिलहाल इस मामले की जांच शुरू कर चुकी है. आसरा गृह की दो लड़कियों की मौत के मामले में कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं. इस मामले में पीएमसीएच के डॉक्टर का कहना है कि लड़कियों की पीएससीएच लाए जाने से पहले ही मौत हो चुकी थी. वहीं, सवाल ये भी उठ रहा है कि पोस्टमार्टम के बाद शव का डिस्पोजल क्यों नहीं किया गया? इसमें कौन-कौन से लोग शामिल हैं और 10 अगस्त से जांच चलने के बावजूद किसी के बीमार होने की बात सामने क्यों नहीं आई?

राजीवनगर थाना अंतर्गत नेपाली नगर में संचालित एक आसरा गृह में एक लड़की सहित दो महिलाओं की संदिग्ध मौत होने का मामला प्रकाश में आने पर समाज कल्याण विभाग और जिला प्रशासन ने इसकी जांच शुरू कर दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.