भारतीय रोइंग टीम ने छठवे दिन दिलाया भारत को पहला गोल्ड मेडल

0
203

भारत को यहां जारी 18वें एशियाई खेलों में छठे दिन शुक्रवार को रोइंग में पहला गोल्ड मेडल हासिल हुआ है. यह गोल्ड रोइंग में मेंस टीम ने जीता. टीम में दत्तू भोकानाल, स्वर्ण सिंह, ओमप्रकाश और सुखमीत सिंह की टीम ने यह गोल्ड मेडल जीता है. भारतीय टीम ने 6:17:17 के वक्त के साथ यह गोल्ड अपने नाम किया. इस स्पर्धा का सिल्वर मेडल इंडोनेशिया और ब्रॉन्ज मेडल थाईलैंड ने जीता. इसी स्पर्धा में भारत को शुक्रवार को दो कांस्य पदक भी हासिल हुए हैं.

नौकायन स्पर्धा में एक और ब्रॉन्ज मेडल हासिल हुआ है. रोहित कुमार और भगवान सिंह की जोड़ी ने यहां पुरुषों की लाइटवेट युगल स्कल्स स्पर्धा के फाइनल में ब्रॉन्ज मेडल जीता. इससे पहले दुष्यंत ने लाइटवेट एकल स्कल्स स्पर्धा के फाइनल में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. फाइनल में दुष्यंत ने इस स्पर्धा को समाप्त करने में 7 मिनट और 18.76 सेकेंड का समय लगाते हुए ब्रॉन्ज पर निशाना साधा. दुष्यंत ने 2014 में भी एशियाई खेलों में इसी स्पर्धा में भारत को कांस्य पदक दिलाया था। हालांकि, इस बार उनका समय पिछले एशियाई खेलों से बेहतर है.

उन्होंने इंचियोन में 2014 में हुए एशियाई खेलों में इस स्पर्धा को 7 मिनट और 26.27 सेकेंड में पूरा किया था. इस स्पर्धा का गोल्ड मेडल दक्षिण कोरिया के खिलाड़ी ह्यूनसु पार्क ने जीता. उन्होंने 7 मिनट और 12.86 सेकेंड का समय लिया.
रोहित और भगवान ने 7 मिनट और 04.61 सेकेंड का समय लेकर स्पर्धा का फाइनल चरण पूरा किया और तीसरे स्थान पर रहकर ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा जमाया. स्पर्धा का स्वर्ण पदक जापान के माशाहीरो ताकेडा और मासायुकी मियाउरा को गया. उन्होंने इस स्पर्धा को 7 मिनट और 01.70 सेकेंड में समाप्त किया. दक्षिण कोरिया की ब्यूनघून किम और मिनयुक ली की जोड़ी ने 7 मिनट और 03.22 सेकेंड का समय लेकर दूसरे स्थान पर रहते हुए सिल्वर मेडल पर कब्जा जमाया. ऐसे में भारत को स्कल्स स्पर्धा में छठे दिन दो पदक हासिल हुए हैं.
भारत के नाम अब कुल 21 मेडल्स हो चुके हैं जिसमें 5 गोल्ड, 4 सिल्वर और 12 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.