पेट्रोल डीजल की कीमतों में फिर बढ़ोतरी, AAP ने कहा- दाम कम करना केंद्र का दिखावा

0
235

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में शनिवार को एक बार फिर बढ़ोतरी हुई है. राजधानी दिल्ली में पेट्रोल में 18 पैसे का इजाफा हुआ है, अब दिल्ली में पेट्रोल की कीमत ₹81.68 प्रति लीटर हो गई है जबकि डीजल में 29 पैसे की बढ़ोतरी के साथ ₹73.24 प्रति लीटर हो गई है.

केंद्र सरकार लाख कोशिश, वादों और दावों के बावजूद बढ़ती पेट्रोल की कीमतों को नहीं रोक पा रही है. इन बढ़ती कीमतों की असली वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में जबरदस्त उछाल है. रोजाना बढ़ रही डीजल पेट्रोल की कीमतों की वजह से अर्थव्यवस्था पर काफी असर पड़ रहा है, जिससे लोगों में सरकार के प्रति काफी नाराजगी भी है.

देश में पेट्रोल और डीजल की बढ़ी कीमतों को लेकर विपक्ष मोदी सरकार को घेरने में जुटा है. पेट्रोल डीजल के दाम में केंद्र की 2.50 रुपये की कटौती को आम आदमी पार्टी ने दिखावा करार दिया है. आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता दिलीप पांडे ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार की कटौती महज दिखावा है.

उन्होंने कहा, सच्चाई ये है कि दिल्ली में अभी भी देश के तमाम बीजेपी शासित राज्यों और गैर बीजेपी शासित राज्यों से सस्ता पेट्रोल और डीजल है. दिलीप पांडे ने कहा कि 13-14 रुपये पेट्रोल बढ़ाकर ढाई रुपया कम करके आप क्या साबित करना चाहते हैं? पेट्रोल की कीमतें बरगद के पेड़ की तरह विशाल होती जा रही है. उन्होंने कहा कि आप पत्तियां तोड़कर कह रहे हैं कि समस्या को हमने समाप्त कर दिया है.

दिलीप पांडेय ने कहा कि हम मोदी जी से कहना चाहते हैं कि दाढ़ी मूछ कम करने से शरीर का वजन कम नहीं होता है, पिछले 3-4 साल में 200 से 400 फीसदी आपने पेट्रोल की कीमत बढ़ा दी और अब आप राज्यों पर दवाब बना रहे हैं, अगर मोदी जी सही नीयत से काम कर रहे हैं तो कम से कम ₹10 पेट्रोल डीजल के दामों में कटौती करें.

दिलीप पांडे ने कहा कि गुजरात चुनाव और कर्नाटक चुनाव दोनों चुनाव से पहले पेट्रोल-डीजल के दाम कम कर दिए गए और चुनाव परिणाम आते ही दाम बढ़ा दिए गए. बीजेपी के मंत्री कह रहे हैं कि पुल और दवाई विकास काम के लिए महंगा पेट्रोल खरीदना पड़ेगा. दिलीप पांडेय ने कहा कि यह सिर्फ और सिर्फ 3 राज्यों में होने वाले चुनाव के मद्देनजर जनता की आंख पर पट्टी बांधने का काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि अगर इसमें सच्चाई और साफ नियत है तो ₹10 कम करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.