उपन्यास MilkMan के लिए एना बर्न्स को मिला Booker Prize 2018

0
262

एना बर्न्स, Man Booker Prize जीतने वाली पहली नॉर्दन आईरिश लेखिका बन गई हैं. एना को यह प्राइज उनके उपन्यास MilkMan के लिए मिला है. MilkMan, बर्न्स का लिखा तीसरा उपन्यास है और यह उनका पहला बड़ा पुरस्कार है. हालांकि 56 वर्षीय बर्न्स अपना उपन्यास पूरा नहीं कर सकीं क्योंकि सर्जरी के बाद उन्हें काफी शारीरिक दर्द से गुजरना पड़ा.
बर्न्स की लिखी MilkMan एक महिला की दास्तां है जो एक ऐसे शख्स का सामना कर रही थी जो यौन उत्पीड़न के लिए पारिवारिक रिश्तों, सामाजिक दबाव और राजनीतिक निष्ठा सरीखें हथियारों का इस्तेमाल कर रहा था.

पुरस्कार देने वाली जूरी में शामिल दार्शनिक क्वाम एंथनी एपियाह ने कहा कि मुझे लगता है कि यह उपन्यास लोगों को #MeToo के बारे में सोचने में मदद करेगा. उन्होंने कहा कि “मुझे लगता है कि यह अफवाह के नुकसान और खतरे के बारे में एक बहुत ही शक्तिशाली उपन्यास है.
बर्न्स ने अमेरिकी लेखक रिचर्ड पावर, कनाडाई उपन्यासकार एसी एडुगन समेत तीन अन्य लेखकों को पछाड़ कर यह पुरस्कार जीता है. साल 1969 में स्थापित, मैन बुकर पुरस्कार मूल रूप से ब्रिटिश, आयरिश और राष्ट्रमंडल लेखकों के लिए था. साल 2014 के बाद अमेरिकियों को इसके लिए पात्र माना गया. साल 2016 में पॉल बेट्टी और साल 2017 में जॉर्ज सॉन्डर्स, इस पुरस्कार के अमेरिकी विजेता रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.