महिला टी-20 विश्व कप / इंग्लैंड के खिलाफ मैच कल, जीता तो पहली बार टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचेगा भारत

0
187

एंटिगा. महिला टी-20 विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में भारत शुक्रवार को इंग्लैंड के खिलाफ उतरेगा। भारतीय टीम टूर्नामेंट में अब तक कोई मुकाबला नहीं हारी है। वर्ल्ड कप में पहली बार उसने ग्रुप में अपने सभी मुकाबले जीते हैं। उसने तीन बार की वर्ल्ड चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड को पहली बार हराया। भारतीय टीम अब तक एक बार भी टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में नहीं पहुंची है। ऐसे में उसकी नजर पहली बार फाइनल में जगह बनाने पर होगी। मैच भारतीय समयानुसार शुक्रवार सुबह 5:30 बजे से शुरू होगा।

भारत के पास वनडे विश्व कप फाइनल में मिली हार का बदला लेने का मौका

भारत ने विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ अब तक चार मैच खेले हैं। इसमें वह एक भी नहीं जीत पाई, सभी में उसे हार का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम पिछले साल वनडे विश्व कप के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ नौ रन से हार गई थी। ऐसे में वह इंग्लैंड को हराकर पिछली हार का बदला भी लेना चाहेगी। भारत और इंग्लैंड के बीच आखिरी टी-20 मुकाबला इस साल मार्च में मुंबई में खेला गया था। भारत ने यह मैच आठ विकेट से जीता था। ऐसे में टीम उस प्रदर्शन को यहां भी दोहराना चाहेगी।

भारत का इंग्लैंड के खिलाफ सिर्फ टेस्ट में रिकॉर्ड बेहतर

भारत-इंग्लैंड के बीच ओवरऑल मुकाबले की बात करें तो टी-20 फॉर्मेट में दोनों टीमें अब तक 13 बार एक दूसरे के सामने हुईं हैं। इसमें भारत सिर्फ तीन ही जीत पाया, जबकि 10 में उसे हार का सामना करना पड़ा। वनडे में भारत और इंग्लैंड के बीच 66 मैच खेले गए। इनमें से भारत ने 28 और इंग्लैंड ने 36 जीते। दो मैच का नतीजा नहीं निकला। हालांकि, टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ भारत का पलड़ा भारी है। दोनों के बीच 13 टेस्ट हुए। इनमें से भारत ने दो जीते और एक हारा। दस मैच ड्रॉ रहे।

मिताली राज का खेलना तय

इंग्लैंड के खिलाफ भारत अपनी सबसे अनुभवी खिलाड़ी मिताली राज को आखिरी एकादश में रखेगा। उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी लीग मैच में विश्राम दिया गया था। आयरलैंड के खिलाफ क्षेत्ररक्षण के दौरान वे चोटिल हो गईं थीं। उन्हें स्पिनर अनुजा पाटिल की जगह टीम में रखा जाएगा। मिताली का शीर्ष क्रम में प्रदर्शन काफी अहम साबित होगा। मिताली ने इस विश्व कप में 107 रन बनाए हैं। वे टॉप स्कोरर्स में सातवें नंबर पर हैं।

स्पिनर्स पर भरोसे की रणनीति अब तक कारगर

रमेश पोवार की कोचिंग में टीम का सिर्फ एक तेज गेंदबाज के साथ खेलने की रणनीति अब तक कारगर साबित हुई है। लेग स्पिनर पूनम यादव (8 विकेट) और बाएं हाथ की स्पिनर राधा यादव (7 विकेट) ने लगातार अच्छा खेल दिखाया है। ऑफ स्पिनर दीप्ति शर्मा (4 विकेट) और दयालन हेमलता (5 विकेट) का प्रदर्शन भी उम्दा रहा है। भारत की तेज गेंदबाज अरुंधित रेड्डी (10 ओवर) और मानसी जोशी (तीन ओवर) ने अब तक चार मैच में केवल 13 ओवर किए हैं।

हरमनप्रीत टूर्नामेंट की टॉप स्कोरर
भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर इस विश्व कप में चार मैच में 167 रन बनाकर टॉप पर हैं। उन्होंने पहले मैच में 103 रन बनाए थे। ओपनर स्मृति मंधाना ने 144 और मिताली राज ने 107 रन बनाए हैं। वहीं, इंग्लैंड की कोई भी बल्लेबाज टॉप-10 में शामिल नहीं है। एमी जोंस ने सबसे ज्यादा 50 रन बनाए हैं। भारत की ओर से एक शतक और चार अर्धशतक लगे हैं। इंग्लैंड की ओर से एक भी अर्धशतक नहीं लगा। इंग्लैंड तीन में से दो मैच में जीता। वेस्टइंडीज के खिलाफ उसे हार का सामना करना पड़ा। एक मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था।

पूनम और राधा टॉप-10 गेंदबाजों में
पूनम यादव ने चार मैच में 8 विकेट लेकर सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में तीसरे नंबर पर हैं। राधा यादव सात विकेट लेकर सातवें स्थान पर हैं। इंग्लैंड की ओर से तेज गेंदबाज अन्या श्रबसोले ने सात विकेट झटके हैं। उन्होंने केवल 3.18 की इकॉनमी से रन दिए। ऐसे में वे मैच में टीम के लिए सबसे अहम साबित हो सकती हैं।

इंग्लैंड की चुनौती भी तगड़ी
विश्व वनडे चैम्पियन इंग्लैंड की टीम काफी मजबूत है। उसका ध्यान अपने तेज गेंदबाजी आक्रमण पर रहेगा। इसमें अन्या श्रबसोले (सात विकेट) और नताली साइवर (चार विकेट) शामिल हैं। इन दोनों ने काफी कसी हुई गेंदबाजी की है और बांग्लादेश, दक्षिण अफ्रीका को 100 रन तक भी नहीं पहुंचने दिया। बल्लेबाजी में डेनियल वैट (तीन मैच में 28 रन) और कप्तान हीथर नाइट (तीन मैच में 31 रन) को अब तक खास मौका नहीं मिला है। केवल वेस्टइंडीज के खिलाफ उसकी सभी बल्लेबाजों को अवसर मिला, लेकिन टीम आठ विकेट पर 115 रन ही बना पाई और चार विकेट से मैच हार गई।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं :
भारत : हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना, जेमिमा रोड्रिग्स, मिताली राज, दीप्ति शर्मा, दयालन हेमलता, वेदा कृष्णमूर्ति, अरुंधति रेड्डी, राधा यादव, पूनम यादव, एकता बिष्ट, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), मानसी जोशी, देविका वैद्य, अनुजा पाटिल।

इंग्लैंड : हीथर नाइट (कप्तान), टैमी बीमोंट, सोफिया डंकले, सोफी एक्लेस्टोन, ताश फर्रान, किर्स्टी गॉर्डन, जेनी गुन, डेनियल हैज़ेल, एमी जोन्स, नताली साइवर, अन्या श्रबसोले, लिन्सी स्मिथ, फ्रैंक विल्सन, लॉरेन विनफील्ड, डेनियल वैट।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.