वसुंधरा ने नहीं की लोगों को भ्रमित कर वोट झटकने की बात

0
129

क्या किसी राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री की ओर से ऐसा बयान सामने आ सकता है कि लोग हमें वोट देने के लिए मजबूर होंगे क्योंकि वे अपनी परेशानियों से इतने दबे होंगे कि उनके पास रोजगार, पानी, सड़क जैसी सुविधाएं ना देने के लिए हमें जिम्मेदार ठहराने का वक्त ही नहीं होगा. ऐसा बयान आने की संभावना ना के बराबर ही है. लेकिन चुनाव वाले राजस्थान में कांग्रेस की ओर से ऐसा ही दावा किया जा रहा है. इस अजीब से बयान को राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की ओर से दिए जाने का दावा किया जा रहा है. ना सिर्फ जयपुर में बीजेपी के एक कार्यक्रम की संपादित क्लिप सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है बल्कि कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इसी तरह का बयान दिया है. सुरजेवाला ने गुरुवार को आजतक न्यूज़ चैनल के एक कार्यक्रम में दावा किया कि “राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बीजेपी कार्यकर्ताओं से कहा है कि आम लोगों को इस हद तक भ्रम में डाल दो कि किसी के पास ऐसे सवाल करने का वक्त ही ना रहे कि सड़कें क्यों नहीं बनीं? पानी की किल्लत क्यों है? नौकरियां क्यों नहीं हैं? क्यों लोगों को पीटा जा रहा है और किसान क्यों बेहाल हैं? ऐसा विचार लोगों को भ्रम में डालकर उनके वोट हासिल करने के लिए है. इसका सीधा मतलब है कि मुख्यमंत्री ने खुद ही हार मान ली है.”सुरजेवाला ने कार्यक्रम के उस वीडियो को भी ट्वीट किया है जिसमें इसी तरह का दावा है. दरअसल, सुरजेवाला उस वीडियो का हवाला दे रहे थे जिसे सोशल मीडिया पर शेयरर किया जा रहा है और उसमें मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को ये कहते सुना जा सकता है- “वोट हमे मिलेंगे क्योंकि लोगों को समय नहीं मिलेगा हमसे पूछने का कि हमको नौकरी क्यों नहीं मिली? हमको पानी क्यों नहीं मिला? हमारे सड़क क्यों नहीं बने? क्योंकि वह अपने दुख में इतने घुटे हुए होंगे|” इंडिया टुडे फैक्ट चेक टीम ने सुरजेवाला के दावे की पड़ताल की तो सामने आया कि वो गुमराह करने वाला है. जिस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है, उस क्लिप को संदर्भ से हटा कर पेश किया गया है जिससे कि अलग तरह का ही संदेश लोगों तक जाए. हमने जब वीडियो को इंटरनेट पर सर्च किया तो हमें वो असल वीडियो मिला जिसमें वसुंधरा राजे को ये कहते सुना जा सकता है- “आपको मालूम होगा भाजपा ने ग़रीबी हटाने का वाकाई में काम किया. कांग्रेस पार्टी ग़रीबी हटाने का नारा पचास साल से देते आ रही है. आज तक उन्होंने कोई ग़रीबी मिटाने का काम नहीं किया है और जब इनसे पूछो तो यह कहते है, ग़रीबी तो मिटाना नहीं है. जितनी ग़रीबी हम करेंगे उतना ही फ़ायदा हमें मिलेगा, उतने ही वोट हमे मिलेंगे क्योंकि लोगों को समय नहीं मिलेगा हमसे पूछने का कि हमको नौकरी क्यों नहीं मिली? हमको पानी क्यों नहीं मिला? हमारे सड़क क्यों नहीं बने? क्योंकि वह अपने दुख में इतने घुटे हुए होंगे.” बीजेपी के यूट्यूब हैंडल पर 21 नवंबर 2018 को अपलोड किया गया. ये वीडियो ‘युवा री बात, अमित शाह रे साथ’ कार्यक्रम से था, ये कार्यक्रम उसी दिन जयपुर में हुआ था. छेड़छाड़ से तैयार वीडियो के आधार पर सुरजेवाला ने जो दावा किया वो गुमराह करने वाला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.