IPL से पुरानी लय में लौटकर वर्ल्ड कप की तैयारी करना चाहते हैं स्मिथ

0
199

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने शुक्रवार को कहा कि वह आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करके अगले साल होने वाले विश्व कप से पहले फिर से अपनी पुरानी लय में लौटना चाहते हैं. स्मिथ और उनके साथी उप कप्तान डेविड वॉर्नर पर मार्च में दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ के मामले में शामिल होने के लिए एक साल का प्रतिबंध लगाया गया था. आईपीएल से पहले उन पर लगा प्रतिबंध समाप्त हो जाएगा. दक्षिण अफ्रीका से लौटने के बाद स्मिथ संवाददता सम्मेलन में रो पड़े थे. इसके बाद उन्होंने अब पहली बार संवाददाताओं का सामना किया.

स्मिथ ने कहा, ‘अब जिस तरह से एकदिवसीय मैच खेले जा रहे हैं, वे एक तरह से टी-20 का ही बड़ा रूप लग रहे हैं. इसलिए मुझे लगता है कि टी-20 क्रिकेट तैयारी के लिए अच्छा तरीका है और आईपीएल दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टूर्नामेंट में से एक है.’ स्मिथ ने प्रतिबंध के दौरान कई टी-20 प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया, ताकि वह लय में रहें. इस बीच वह कनाडा और कैरेबियाई देशों में भी खेले. आईपीएल अप्रैल और मई में खेला जाएगा, जबकि विश्व कप इंग्लैंड में 30 मई से शुरू होगा.

यह 29 साल का क्रिकेटर आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलता है. स्मिथ ने गेंद से छेड़छाड़ के मामले के कारण कप्तानी छोड़ दी थी, लेकिन वह फ्रेंचाइजी का हिस्सा बने हुए हैं. स्मिथ ने कहा, ‘मुझे बांग्लादेश लीग में खेलना था, लेकिन मुझे नहीं पता कि अभी वहां क्या हो रहा है. इसके बाद पाकिस्तान लीग और आईपीएल में खेलना है. मुझे लगता है कि अगर मुझे चुना जाता है तो यह विश्व कप के लिये पर्याप्त तैयारी होगी.’

स्मिथ से गेंद से छेड़छाड़ करने के मामले के बाद के नौ महीनों के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि यह मुश्किल दौर था, लेकिन उन्होंने इस तरह की परिस्थितियों से पार पाना सीखा. उन्होंने कहा, ‘मेरे अपने उतार- चढ़ाव थे. कुछ ऐसे अंधकार भरे दिन थे जब मैं अपने बिस्तर में दुबके रहना चाहता था, लेकिन मेरे इर्द गिर्द ऐसे लोग रहे, जिन्होंने मुझे यह समझने में मदद की कि सब कुछ ठीक है.’

स्मिथ ने कहा, ‘इन नौ महीनों में मैंने काफी कुछ सीखा. खेल से बाहर रहने पर मुझे तरोताजा होने और फिर से बेहतर मनोस्थिति में आने का समय मिला.’ न्यूलैंड्स टेस्ट मैच के दौरान ड्रेसिंग रूम में क्या हुआ इस बारे में पूछे जाने पर स्मिथ ने कहा कि वह उनकी नेतृत्वक्षमता की नाकामी थी. उन्होंने कहा, ‘कमरे में जो हो रहा था मेरे पास उसे रोकने का मौका था, लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया. वह बाहर तक पहुंच गया और मैदान में घटना घटित हो गई. मेरे पास यह कहने का मौका था कि मैं इस बारे में कुछ नहीं जानता था. यह मेरी नेतृत्वक्षमता की नाकामी थी और मैं उसकी जिम्मेदारी लेता हूं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.