IND vs AUS: रवींद्र जडेजा तीसरे टेस्ट मैच के लिए उपलब्ध रहेंगे

0
328

भारत के हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 26 दिसंबर से शुरू होने वाले बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिए टीम चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने जारी बयान में कहा कि जडेजा कंधे की चोट से उबर चुके हैं और अब वह मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के साथ खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए टीम चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे. बीसीसीआई ने कहा कि जडेजा को इस साल वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली गई वनडे सीरीज के दौरान कंधे में चोट लग गई थी और फिर इसके बाद पिछले महीने दो नंबवर को उन्हें इंजेक्शन लेने की सलाह दी गई थी.

इस इंजेक्शन के बाद जडेजा अच्छा महसूस करने लगे थे. इसके बाद उन्होंने 12 से 15 नवंबर तक खेले गए रणजी ट्रॉफी मैच में सौराष्ट्र के लिए मैच भी खेला था. रणजी ट्रॉफी में खेलने के बाद बीसीसीआई ने उन्हें फिट करार दिया था और फिर उन्हें आस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए चुना गया था. बोर्ड ने कहा कि सिडनी में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए अभ्यास मैच के दौरान 30 नवंबर को जडेजा ने फिर से कंधे में चोट की शिकायत की थी. इसके बाद उन्हें फिर से इंजेक्शन दिया गया था और यह इंजेक्शन उनकी चोट में सुधार के लिए रिहेबिलिटेशन का एक हिस्सा था.

बयान के अनुसार, जडेजा के कंधे में सुधार जारी है और अब वह मेलबर्न में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए उपलब्ध हैं. गौरतलब है कि जडेजा की चोट की स्थिति को लेकर बीसीसीआई का यह बयान भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री के उस बयान के बाद आया है, जिसमें शास्त्री ने रविवार को कहा कि जडेजा के कंधे में उस समय से जकड़न थी, जब वह घरेलू क्रिकेट खेल रहे थे और यहां पहुंचने के चार दिनों बाद उन्हें इंजेक्शन दिए गए थे.

कोच के इस बयान के बाद यह सवाल उठने लगा कि पूरी तरह से फिट नहीं होने के बावजूद जडेजा को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर क्यों लाया गया. लेकिन अब बीसीसीआई के इस बयान को शास्त्री के बयान का बचाव करने के रूप में देखा जा रहा है. जडेजा को पर्थ में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में न खेलाने को लेकर कोच और टीम प्रबंधन की काफी आलोचना की गई थी. भारत को दूसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के हाथों 146 रनों से हार का सामना करना पड़ा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.