सभी को अपने विचार व्यक्त करने और धर्म पालन करने की पूरी आजादी : मुख्यमंत्री

0
242

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आज पूरी दुनिया और देश भर में आपसी कटुता को बढ़ाने का माहौल पैदा किया जा रहा है. किसी व्यक्ति को अपने विचार व्यक्त करने और अपने धर्म का पालन करने की पूरी स्वतंत्रता है, लेकिन दूसरे धर्म, संप्रदाय के प्रति भी मन में सम्मान का भाव होना चाहिए.
हर किसी को अपनी विचारधारा के प्रति प्रतिबद्धता रखने के साथ ही दूसरे के विचारों के प्रति भी मन में आदर भाव रखना चाहिए.सीएम गुरुवार को स्व. देवेंद्र राय की तीसरी पुण्यतिथि पर शहर के सगुना मोड़ स्थित मां लक्ष्मी भवन में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. इस मौके पर उन्होंने स्व देवेंद्र राय उर्फ नन्कुट पहलवान की प्रतिमा का अनावरण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. सीएम ने दिव्यांग लड़कियों को ट्राई-साइकिल व पौधा और आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी छात्राओं को आर्थिक मदद के तौर पर चेक प्रदान किया. सीएम ने लोगों से अपने बेटे और बेटियों को इंटर से आगे पढ़ाने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा के लिए सरकार चिंता करेगी. सीएम ने कहा कि समाज में प्रेम और भाईचारा का भाव पैदा करने के लिए वह हमेशा प्रत्यनशील रहे, जिसकी आज काफी जरूरत है. उन्होंने कहा कि न्याय के साथ विकास के प्रति हमारी प्रतिबद्धता शुरू से है, जिसका मतलब है हर तबके और हर इलाके का विकास. बिहार की बागडोर संभालने के बाद हमने समाज में मौजूद कठिनाइयों को दूर करने का हर संभव प्रयास किया इस कड़ी में पूरे बिहार में आवागमन को सुगम बनाने के लिए सड़क, पुल-पुलियों का निर्माण, स्कूलों की व्यवस्था के साथ ही हर क्षेत्र में विकास के लिए काम किये गये. उन्होंने कहा कि स्व देवेंद्र राय अपने जीवन में गरीबों की काफी मदद करते थे. शिक्षा को बढ़ावा देने के प्रति भी उनके परिजनों की काफी रुचि है, जिसका नतीजा है कि उनकी श्रद्धांजलि सभा के अवसर पर आज आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी बच्चों को आर्थिक मदद प्रदान की गयी है. इस सभा को विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, उद्योग मंत्री जय कुमार सिंह, एमएलसी अशोक कुमार चौधरी ने भी संबोधित किया. इस मौके पर पूर्व एमएलसी गुलाम गौस, राज्य नागरिक परिषद के पूर्व महासचिव छोटू सिंह, स्व. देवेंद्र राय की पत्नी लक्ष्मी देवी, पुत्र विनोद कुमार, सुबोध कुमार यादव, बिजेंद्र यादव, सुनील कुमार यादव और डीएम कुमार रवि समेत अन्य मौजूद थे. सीएम ने कहा कि उच्च शिक्षा में गरीबी आड़े नहीं आये, इसके लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की गयी है. इसमें इंटर से आगे पढ़ने के लिए चार लाख रुपये ऋण देने की व्यवस्था है. बैंकों के असहयोगात्मक रवैये को देखते हुए शिक्षा वित्त निगम का गठन किया गया है. सीएम ने लोगों से इंटर से आगे बेटे-बेटियों को पढ़ाने के लिए जरूरत के मुताबिक इसका लाभ लेने की अपील की. कहा, उच्च शिक्षा के लिए सरकार चिंता करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.