रक्षा मंत्री ने HAL को ऑर्डर पर संसद में दिया जवाब, राहुल ने अब उठाया सैलरी का सवाल

0
409

रक्षा मंत्री निर्मला सीता रमण ने लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उस सवाल का जवाब दिया है, जिसमें उन्होंने एचएएल को 1 लाख करोड़ रुपये के कॉन्ट्रैक्ट दिए जाने पर सवाल उठाया था। निर्मला सीतारमण ने कहा कि वह सदन में दिए अपने बयान पर अब भी टिकी हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी इस तरह के सवाल पूछकर देश को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार ने एक लाख करोड़ रुपये का कॉन्ट्रैक्ट दिया है, यह कॉन्ट्रैक्ट 2014 से 2018 तक के लिए है। इसके बाद राहुल गांधी ने ट्वीट कर एचएएल कर्मचारियों की सैलरी का मुद्दा उठा दिया।
राहुल गाँधी और पूरी कांग्रेस देश की सुरक्षा के साथ खेल रहे है. देश के लोग अभी भी नही सुधरेंगे और उन्हे वोट देंगे तो देश का भला नही होने वाला है.

उन्होंने कहा, ‘मुझे एचएएल से इसका कन्फर्मेशन भी मिला है कि 2014 इसके बाद राहुल गांधी ने एचएएल को सैलरी का मुद्दा उठा दिया। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘एचएएल के पास कर्मचारियों को सैलरी देने के लिए रुपये नहीं हैं, क्या यह चौंकाने वाला नहीं है? बगैर सैलरी के एचएएल के टैलंट को एए के वेंचर में जाने पर मजबूर होना पड़ेगा।’ वहीं सदन में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि यदि एचएएल के साथ कॉन्ट्रैक्ट हुआ है तो उनके पास कर्मचारियों को देने के लिए पैसा क्यों नहीं है? खड़गे ने राफेल मामले में जेपीसी की मांग दोहराई है।

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को एक लाख करोड़ रुपये का सरकारी ऑर्डर देने के मामले में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर संसद में झूठ बोलने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि सदन में अपने बयान के समर्थन में वह या तो दस्तावेज पेश करें या इस्तीफा दें। गांधी ने सरकार पर निशाना तब साधा है जब एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ‘‘एचएएल के पास एक लाख करोड़ रुपये में से एक भी रुपया नहीं आया है। दावे के विपरीत अब तक एक भी ऑर्डर पर हस्ताक्षर नहीं किया गया है।’’

विपक्षी दल ने सरकार पर आरोप लगाया है कि उसने फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान सौदे के तहत एचएएल को एक ऑफसेट अनुबंध से वंचित कर दिया। सरकार इन आरोपों को खारिज कर चुकी है। उधर, बीजेपी नीत एनडीए सरकार ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि उसने अपने शासनकाल में एचएएल का समर्थन नहीं किया और सरकार अब रक्षा क्षेत्र के सार्वजनिक उपक्रम को मजबूत कर रही है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाया था कि उन्होंने अपने सूट-बूट वाले दोस्तों की मदद करने के लिए एचएएल को कमजोर किया है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने रविवार को ट्वीट किया, ‘झूठ बोलने वाली रक्षा मंत्री के झूठ का पर्दाफाश हो गया। रक्षा मंत्री ने दावा किया था कि एचएएल को एक लाख करोड़ रुपये की खरीद के ऑर्डर दिए गए हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.