जो कहते हैं वह करके दिखाते हैं:मुख्यमंत्री

0
217

भभुआ (कैमूर) : जिले के धनेछा हाइस्कूल के मैदान में मंगलवार को सिंचाई परियोजना के शिलान्यास के बाद आयोजित सभी में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अब बिहार में लालटेन की जरूरत नहीं है और न ही किसी भूत का डर है.
उन्होंने कहा कि हम जो कहते हैं वह करके दिखाते हैं. हमने कहा था कि सात निश्चय योजना के अंतर्गत 31 दिसंबर 2018 तक बिहार के हर घरों में बिजली पहुंचा दी जायेगी और वह काम हमने पूरा किया. इसी तरह हमने लक्ष्य रखा है कि 31 दिसंबर 2019 तक कृषि फीडर बना कर इच्छुक किसानों को अलग से बिजली का कनेक्शन दे दिया जायेगा.
वहीं 31 दिसंबर 2019 तक राज्य के सभी पुराने जर्जर बिजली के तार को भी बदलने का लक्ष्य रखा गया है. बिहार में अंधेरा समाप्त हो गया है. उन्होंने कहा कि कैमूर में जल संसाधन विभाग की कुल छह योजनाओं का कार्यारंभ व शिलान्यास किया जा रहा है, जिसे समय पर पूरा किया जायेगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कैमूर की वादियों ने इस तरह से मन मोह लिया है कि वे इस महीने यानी जनवरी के अंत में या फरवरी के प्रथम सप्ताह में फिर दोबारा कैमूर आयेंगे.
टूरिस्ट सर्किट से जोड़े जायेंगे मुंडेश्वरी मंदिर व तेल्हाड़कुंड
कैमूर पहाड़ी पर स्थित करकटगढ़ जलप्रपात को इको टूरिज्म के रूप में विकसित किया जायेगा और साथ ही करकटगढ़ जलप्रपात को मुंडेश्वरी व तेल्हाड़कुंड से जोड़ कर एक टूरिस्ट सर्किट बनायी जायेगी.
सीएम ने कहा कि करकटगढ़ में प्राकृतिक सौंदर्य का अद्भुत संगम है. ऐसी जगहों पर इको टूरिज्म विकसित करने के लिए वन विभाग के अंदर एक विभाग बनाया जायेगा. करकटगढ़ जलप्रपात के पास सीएम एक घंटा से अधिक समय बिताया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.