मुंबई। फिल्म गली बॉय का ट्रेलर रिलीज हो गया है।इसमें फिल्म के कलाकार रणवीर सिंह और आलिया भट्ट कुछ अलग ही अंदाज़ में नज़र आ रहे हैं। बता दें कि फिल्म का ट्रेलर बहुत ही अनोखे ढंग से प्रस्तुत किया गया था। जिसे लेकर दर्शको में उत्सुकता बढ़ गई है। वीडियो में रणवीर सिंह अपने मोबाइल की तरफ़ देख कर ट्रेलर रिलीज की तैयारी कर रहे है। इसके अलावा, आलिया भट्ट अपनी खिड़की से बाहर झांक रही है और तभी ट्रेलर रिलीज का पॉप-अप नज़र आता है।बता दें कि गली बॉय के ट्रेलर रिलीज की घोषणा के साथ ही निर्माताओं ने “असली हिप हॉप” नामक एक रैप सांग भी ऑनलाइन रिलीज किया था। फिल्म में, रणवीर एक अंडरग्राउंड रैपर की भूमिका निभाते हुए नज़र आएंगे और इस वीडियो के द्वारा बताया गया है कि वह कैसे सुपर रैपर बनें । दिलचस्प बात है कि इस रैप को रणवीर सिंह ने ही गाया है। वही, वीडियो को यूट्यूब पर बेहद कम समय में 14 मिलियन से अधिक बार देखा गया है। रणवीर सिंह फ़िल्म में धारावी की झोपड़ियों में रहने वाले शख़्स की भूमिका में नज़र आएंगे, जबकि आलिया भट्ट उनके प्यार में पागल लड़की की भूमिका में होगी। जोया अख्तर के निर्देशन में बनी इस फिल्म का वर्ल्ड प्रीमियर 2019 के बर्लिन फिल्म फेस्टिवल में होगा जो 7 फरवरी से 17 फरवरी तक चलेगा।एक्सेल एंटरटेनमेंट और टाइगर बेबी द्वारा निर्मित, जोया अख्तर द्वारा निर्देशित “गुली बॉय” 14 फरवरी 2019 को रिलीज होने के लिए तैयार है।

0
206

बलात्कार मामले में अभिनेता आलोकनाथ को एक सत्र अदालत ने गिरफ्तारी से पहले जमानत दे दी है। उन्हें पटकथा लेखक विनता नंदा की शिकायत के आधार पर आरोपी बनाया गया था। लेकिन अदालत ने कहा कि आलोकनाथ के खिलाफ बलात्कार का मामला शिकायतकर्ता नंदा की अपमानजनक और झूठी रिपोर्ट के आधार पर दर्ज किया गया।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एस.एस. ओझा ने पांच लाख रुपये के सुरक्षा मुचलके पर आलोकनाथ को गिरफ्तारी से पहले जमानत दी। उन्होंने कहा, पटकथा लेखक ने निजी दुश्मनी के कारण बदला लेने के लिए बलात्कार की शिकायत दर्ज कराई। अदालत ने यह फैसला बीते हफ्ते सुनाया था, जिसे मंगलवार को अपलोड किया गया।

एकतरफा प्रेम से प्रेरित
आदेश में न्यायाधीश ने कहा, शिकायतकर्ता की अपमानजनक, झूठी, दुर्भावनापूर्ण और काल्पनिक रिपोर्ट के आधार पर अभिनेता के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। यह आलोकनाथ के प्रति शिकायतकर्ता के निजी प्रतिशोध से प्रेरित है। उसके आरोप शायद आलोकनाथ के लिए उसके एकतरफा प्रेम से प्रेरित थे।

मित्र को खोने का बदला
अदालत ने पाया कि आलोकनाथ की पत्नी आशु और नंदा की कॉलेज के दिनों से ही मित्रता थी। मुंबई में एक टेलीविजन धारावाहिक की प्रोडक्शन इकाई के साथ काम करने के दौरान उनकी मुलाकात आलोकनाथ से हुई और तीनों मित्र बन गए। आलोकनाथ ने 1987 में आशु को शादी का प्रस्ताव दिया और दोनों ने शादी कर ली। ऐसे में नंदा को लगा कि वह अकेली रह गई क्योंकि उसने अपनी प्रिय मित्र को खो दिया था।
बिग बी ने की बैलगाड़ी की सवारी, खाट पर लेट बोले- याद आए पुराने दिन

घटना की तारीख याद नहीं :
अदालत ने कहा, शिकायतकर्ता को पूरी घटना याद है, लेकिन तारीख और महीना याद नहीं है। तमाम तथ्यों को देखते हुए यह संभावना खारिज नहीं की जा सकती कि अभिनेता को झूठे अपराध में फंसाया गया।

बीते साल लगा था आरोप :
बॉलीवुड में चली ‘मी टू’ लहर के दौरान पिछले साल 8 अक्तूबर को पटकथा लेखक विनता नंदा ने फेसबुक पोस्ट में आलोकनाथ का नाम लिए बिना अपने अनुभव साझा किए थे। फिर नंदा ने नवंबर में मुंबई के ओशिवारा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई कि आलोकनाथ ने 1998 में उनसे बलात्कार किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.