चोर देश में हो या विदेश में ये चौकीदार उन्हें छोड़ेगा नहीं: PM नरेंद्र मोदी

0
214

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के महाधिवेशन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कभी दो कमरों में चलने वाली पार्टी आज महाधिवेशन कर रही है, यह गर्व की बात है. स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि हर राष्ट्र की एक नियति होती, हर राष्ट्र का एक ध्येय होता है. इसलिए हम भारतीयों को भी उस ध्येय को हासिल करना है. भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सौभाग्यशाली हैं कि हमें पहले दिन से ही इसकी शिक्षा मिली है. साथियों बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की यह पहली ऐसी बैठक है जो अटल बिहारी वाजपेयी के बगैर हो रही है. मैं उन्हें नमन करता हूं. साथ कहता हूं कि वे जहां कहीं भी हैं उनकी उनका आशीर्वाद हमपर बना रहेगा.

पीएम मोदी ने कहा कि वर्तमान में देश के 16 राज्यों में या तो बीजेपी की सरकार है या हम सरकार में सहयोगी हैं. यह गौरव की बात है. मैं कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि इस कार्यकारिणी में जितने भी प्रस्ताव पास हुए हैं उसे कार्यकर्ता जन जन तक पहुंचाएं.

पीएम ने कहा कि देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है. हम इस पर गर्व कर सकते हैं कि हमपर एक भी दाग नहीं लगा है. इससे पहले की सरकार ने साल 2004 से 2014 तक साल में देश को घोटालों और भ्रष्टाचार में डूबो दिया. देश की आजादी के बाद अगर सरदार पटेल प्रधानमंत्री बनते तो देश की तस्वीर कुछ और होती. उसी तरह 2000 के चुनावों के बाद अटल बिहारी प्रधानमंत्री बने होते तो देश कहीं और होता. अब हमारी सरकार ने देश का आत्मविश्वास लौटाने का काम किया है.

पीएम मोदी ने कहा कि इतनी संख्या में स्वेच्छा से गैस सब्सिडी छोड़ना, रेल टिकट पर सब्सिडी छोड़ना, इतनी संख्या में टैक्स चुकाने के लिए स्वेच्छा से आगे आना ये बड़ी बात है. जनता के मन में विश्वास आया है कि उनके टैक्स की पाई-पाई को राष्ट्र निर्माण में खर्च किया जा रहा है. बीजेपी ने साबित कर दिया है कि राष्ट्रहित में जब बड़े से बड़े फैसले लिए जाते हैं तो देशवासी उनका साथ देते हैं.

भारतीय जनता पार्टी की सरकार सिर्फ और सिर्फ विकास के मार्ग पर चल रही है. हमारा एक ही लक्ष्य है सबका साथ सबका विकास. साथ ही हमारा लक्ष्य है एक भारत श्रेष्ठ भारत. पीएम मोदी ने कहा कि सबका विकास के नारे को न केवल सरकार बल्कि जनभागीदारी से पूरा करना है. यही हमारी कार्य संस्कृति रही है.

उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को 10 फीसदी आरक्षण का फैसला समानता दिलाने का एक प्रयास है. यह उन गरीबों के लिए है जिन्हें जाति के आधार पर नजरअंदाज कर दिया जाता था. मैं स्पष्ट कर देता हूं कि पहले से जिन्हें आरक्षण मिल रहा है उसमें किसी भी तरह की छेड़छाड़ नहीं किया जा सकता है. इससे अलग आर्थिक आधार पर उच्च जाति के गरीब लोगों को आरक्षण दिया जा रहा है. पीएम मोदी ने स्पष्ट किया कि इससे किसी के अधिकार को छिना नहीं जाएगा. कुछ लोग आरक्षण की आड़ में साजिश रच रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी में हमारी युवा शक्ति सबसे बड़ी ताकत है. आज का युवा जानता है कि हर परिस्थिति में सरकार उनके साथ खड़ी है. युवा आज राष्ट्रभक्ति की भावना दर्शाने में हिचकता नहीं है. देश में टैलेंट की कभी कमी नहीं रही. हमारी सरकार ने उचित कदम उठाए, जिसका फायदा दिख रहा है.

राजनीतिक लाभ के लिए लोग बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे अभियान का मजाक उड़ाते हैं. दफ्तरों में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए उद्योग-धंधे बढ़ाए जा रहे हैं. महिलाओं के लिए मैटरनिटी लीव की अवधि छह महीने कर दी गई है.

पिछली सरकारों ने किसानों को केवल मतदाता बना रखा था. हम अन्नदाता को ऊर्जादाता बना रहे हैं. हमने किसानों की हालत सुधारने के लिए लंबा रास्त चुना है. साथियों देश का किसान साक्षी है कि लागत का डेढ़ गुना एमएसपी निर्धारित करने की मांग कितने सालों से फाइलों में पड़ी थी. बीजेपी ने स्वामीनाथन की रिपोर्ट को लागू करवाया. किसानों से अनाज की खरीद को लेकर हम गंभीरता से काम कर रहे हैं. कुछ साल पहले तक दाल की कीमतों को लेकर हल्ला मचाया जाता था, लेकिन हमारी सरकार आने के बाद दाल की बढ़ी कीमतों की लेकर टीवी पर ब्रेकिंग न्यूज नहीं बनते हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकार ने अपने आखिरी के पांच वर्षों में 5 लाख मीट्रिक टन दाल और तिलहन की खरीद की. हमने साढ़े चार साल में 95 लाख मिट्रिक टन दाल और तिलहन सरकार ने किसानों से खरीदी की. साल 2022 तक किसान अपनी कमाई डेढ़ गुना कर लें हम इसी कोशिश में जुटे हैं. बीजेपी में संस्कार दिया जाता है, देश से बड़ा दल और दल से बड़ा राष्ट्र. देश में गैस सिलेंडर पहले से ही बंटते रहे हैं, ऑनलाइन रेल टिकट पहले भी कटते रहे हैं, सड़कें पहले भी बनती रही हैं, लेकिन इसमें अभूतपूर्व तेजी आई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश की आजादी से लेकर साल 2008 तक बैंकों ने 18 लाख करोड़ का लोन दिया था, वहीं कांग्रेस शासन के आखिरी शाषण काल में 12 लाख करोड़ रुपए लोन दे दिया गया. इन छह साल में कांग्रेस लोन प्रोसेस से बैंकों पर लोन देने के लिए दबाव बनाया जाता था. कॉमन प्रोसेस में 10-20 लाख रुपए लोन मिलते थे, जबकि कांग्रेस के नामदारों के फोन पर अरबों रुपए लोन बिना किसी तरह की पूछताछ के दे दिए जाते थे. हमने कांग्रेस प्रोसेस लोन व्यवस्था को बंद किया है. हमारे प्रयास से बैंकों का तीन लाख करोड़ रुपए वापस आ गया है.

पीएम मोदी ने कहा कि पहली बार विदेशी बिचौलिए को पकड़कर विदेश से लाया गया है. अब धीरे-धीरे परतें खुल रही हैं. बिचौलिए के बचाव के लिए कांग्रेस के वकील भेजे जा रहे हैं. इनकी पोल खुल गई है तो ये गाली देने पर आमदा हैं. ये चाहे जितनी कोशिश कर लें, चौकीदार रुकने वाला नहीं है. चोर चाहे देश में हो या विदेश में ये चौकीदार किसी को भी नहीं छोड़ेगा.

पीएम ने कहा कि संसद में जब राफेल पर चर्चा हो रही थी तो हमारे एक साथ ने उदाहरण दिया था कि अगर हम टाट की खाली बोरी खरीदने जाएं तो इसकी कीमत काफी कम होगी. वहीं अगर इस टाट की बोरी में गेहूं भर दी जाए या चावल भर दिया जाए तो इसकी कीमत बदल जाएगी.

जिन दलों का निर्माण ही कांग्रेस की कार्य संस्कृति से परेशान होकर शुरू हुई थी, आज वही एकजुट हो रहे हैं. ये लोग कांग्रेस के सामने सरेंडर कर रहे हैं. इस नए गठबंधन की हार शुरू हो चुकी है, तेलंगाना इसका उदाहरण है. कर्नाटक में गठबंधन के मुख्यमंत्री कहते हैं कि उन्हें एक कलर्क बनाकर छोड़ दिया गया है. देश में ये पहला अवसर है जब केवल एक व्यक्ति के विरोध में राजनीतिक दल एकजुट हो रहे हैं. ये सारे लोग मिलकर देश में एक मजबूर सरकार बनाने पर आमदा हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.