पीएम मोदी के इस शहर में एयरपोर्ट को मंजूरी देते ही चीन की उड़ी नींद

0
273

नई दिल्ली : भारत की पूर्वी सीमा पर स्थित राज्य अरुणाचल प्रदेश की राजधानी में एयरपोर्ट बनाने के लिए मोदी सरकार ने मंजूरी दे दी है. अरुणचाल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया है और कहा है कि इस फैसले से अरुणाचल प्रदेश का दशकों पुराना सपना साकार होगा. इस एयरपोर्ट की लागत 1055 करोड़ रुपये होगी और इस प्रोजेक्ट को पब्लिक इनवेस्टमेंट बोर्ड (पीआईबी) ने मंजूरी दे दी है.

सीमा से सटे होने से एयरपोर्ट का सामरिक महत्व
चीन की सीमा से सटे होने के कारण इस एयरपोर्ट का सामरिक महत्व भी होगा. चीन अरुणाचल प्रदेश पर अपना नाजायज हक भी जताता रहता है. ऐसे में अरुणाचल प्रदेश में एयरपोर्ट के निर्माण से चीन की परेशानी निश्चित रूप से बढ़ेगी. पेमा खांडू ने ट्वीट किया, ‘टीम अरुणाचल के लिए खुशखबरी है कि राजधानी में अपने एयरपोर्ट के दशकों पुराने सपने को आज पीआईबी में मंजूरी मिल गई. इसकी आनुमानित लागत 1055 करोड़ रुपये होगी. इस प्रोजेक्ट को साकार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद.’

सरकार का नार्थ-ईस्ट के विकास पर खास जोर
हमारी सहयोगी वेबसाइट www.zeebiz.com/hindi के अनुसार केंद्र की बीजेपी सरकार नार्थ-ईस्ट के विकास पर खासतौर से जोर दे रही है और हाल में पीएम मोदी ने असम से अरुणाचल प्रदेश को जोड़ने वाले बोगीबील पुल का उद्घाटन किया था. इससे पहले पेमा खांडू ने कहा था कि राज्य की राजधानी में बनने वाले होलोन्गी ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट की आधारशिला जनवरी महीने में खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रखेंगे.

उन्होंने तेजू में अरुणाचल राइजिंग कैंपेन में कहा था कि हाल में उनकी प्रधानमंत्री मोदी के साथ बैठक हुई, जहां उन्हें बताया गया कि राजधानी ईटानगर के नजदीक होलोन्गी एयरपोर्ट के लिए सभी बाधाएं दूर हो गई हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जनवरी में इस एयरपोर्ट की आधारशिला रख सकते हैं. माना जा रहा है कि इस एयरपोर्ट पर सिक्किम के पोकयांग एयरपोर्ट से बेहतर सुविधाएं दी जाएंगी. एयरपोर्ट के निर्माण के लिए 350 करोड़ की पहली किश्त जल्द जारी की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.