बंधन बैंक से दिनदहाड़े 7.90 लाख लूटे, सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर भी ले गये अपराधी

0
125

पटना : चार एटीएम काट कर 35 लाख लूट कांड के दूसरे ही दिन बेखौफ अपराधियों ने पुलिस को फिर चुनौती दे डाली. राजीव नगर थाने के जयप्रकाश नगर रोड नंबर पांच में एक प्राइवेट मकान में चल रहे बंधन बैंक में दोपहर करीब तीन बजे छह-सात की संख्या में रहे नकाबपोश अपराधियों ने हथियार का भय दिखाते हुए तमाम कर्मियों को बंधक बना लिया और कलेक्शन के 7.90 लाख रुपये लेकर फरार हो गये. भागने के दौरान अपराधियों ने सीसीटीवी कैमरे के डीवीआर सहित वहां मौजूद तीन कर्मियों व एक ग्राहक का मोबाइल फोन भी लूट लिया.

घटना की जानकारी मिलने पर डीआइजी सेंट्रल राजेश कुमार, एसएसपी गरिमा मलिक सहित अन्य अधिकारी दल-बल के साथ पहुंचे और मामले की छानबीन में जुट गये. आसपास के दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों का फुटेज खंगाला गया है और दो संदिग्ध की पहचान की गयी है. जिस मकान में यह घटना हुई है, वहां 13 किरायेदार रहते हैं, लेकिन किसी को भनक नहीं लगी.
सूत्रों का कहना है कि इस घटना को लोकल अपराधियों ने ही अंजाम दिया है. बंधन बैंक का कलेक्शन सेंटर झारखंड विद्युत विभाग से रिटायर्ड कर्मचारी सीडी सिंह के चारमंजिला आवास के फर्स्ट फ्लोर पर चल रहा था. दो माह पहले ही वहां बैंक का कार्यालय खोला गया था.
इधर, एसएसपी गरिमा मलिक ने पूरे मामले की जांच के लिए सिटी एसपी मध्य अमरकेश डी के नेतृत्व में एसआइटी का गठन कर दिया है. एसएसपी ने बताया कि अभी तक की पूछताछ व जांच में यह बातें सामने आयी हैं कि तीन की संख्या में अपराधी कमरे के अंदर आये थे और कुछ के बाहर होने की संभावना जतायी जा रही है. पुलिस ने गुरुवार की देर रात दो युवकों को दीघा-आशियाना रोड से उठाया और पूछताछ कर रही है.

अपराधियों को थी लोन वितरण होने की जानकारी
बंधन बैंक में सप्ताह में एक दिन गुरुवार को लाेगों को लोन वितरित किया जाता था. लूट करने वाले अपराधियों को पता था कि कब कलेक्शन एजेंट वहां पैसा लेकर आते हैं और गुरुवार को किस समय ग्राहकों को लोन की राशि वितरित की जाती है. खास बात यह है कि बैंक में पैसों की सुरक्षा के लिए कोई सुरक्षा गार्ड नहीं रखा गया था. इसके अलावा बैंक के संबंध में लोकल पुलिस को भी जानकारी नहीं दी गयी थी.

गोली मारने की दी धमकी
अपराधियों ने सारा कैश उठा एक बैग में रख लिया. इस बीच राधेश्याम ने उठना चाहा तो उसे गोली मारने की धमकी देकर बिठा दिया. इसी बीच दूसरे कमरे में बंद एक ग्राहक राजू कुमार किसी तरह से खिड़की खोल कर बगल के मकान के छत पर पहुंचा और वहां से नीचे उतर कर लोगों को ऊपर हो रही घटना के संबंध में जानकारी दी. इधर वारदात के बाद फरार हो रहे अपराधियों ने सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर निकाल ले गये. बाहर से मेन गेट को बंद कर दिया और सड़क पर लगे बाइक पर सवार हो कर राजीव नगर की ओर निकल गये. इसके बाद शोर शुरू हुआ तो सेकेंड फ्लोर पर रहे मकान मालिक सीडी सिंह के परिजन अंजना देवी व अन्य किरायेदार पहुंचे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.