मिशन ‘‘19 पर जदयू का मंथन:लोकसभा चुनाव से पहले JDU की अहम बैठक, बजट सत्र के बाद होगा प्रत्याशियों के नामों का ऐलान

0
118

केन्द्र की सत्ता पर कब्जे के लिए इस वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) के घटक जनता दल यूनाइटेड(जदयू) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की रविवार को हुई बैठक में मिशन 2019 पर मंथन हुआ और इसमें भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के साथ मतभेद वाले मुद्दों पर अपने पुराने रुख पर कायम रहने की बात दुहराई गई। बैठक के बाद पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव के सी त्यागी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कार्यकारिणी की बैठक में लोकसभा चुनाव के लिये रणनीति पर मंथन हुआ और यह तय हुआ कि जल्द ही पार्टी उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी । इसके साथ ही पार्टी ने लक्षद्वीप की एक लोकसभा सीट पर भी अपना उम्मीदवार खड़ा करने का निर्णय लिया । उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि पार्टी का धारा 370, समान नागरिक संहिता और रामजन्म भूमि विवाद पर पुराना रुख कायम है। श्री त्यागी ने कहा कि पार्टी अभी भी यह मानती है कि रामजन्म भूमि विवाद न्यायालय के फैसले से या संबंधित पक्षों के बीच आपसी बातचीत से ही सुलझाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मामला अभी उच्चतम न्यायालय में लम्बित है और सभी को उसके फैसले का इंतजार करना चाहिए। इस मामले में न्यायालय का जो भी फैसला आयेगा उसका सभी को सम्मान भी करना चाहिए। जदयू महासचिव ने कहा कि असम में नागरिकता संशोधन विधेयक के मुद्दे पर पार्टी अपना रुख पहले ही स्पष्ट कर चुकी है। राज्यसभा में इससे संबंधित विधेयक का पार्टी विरोध करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने लोकसभा में इस विधेयक पर मतदान के दौरान बहिष्कार किया था जो एक तरह से सरकार के पक्ष का समर्थन ही था। पार्टी कांग्रेस के इस रुख की ¨नदा करती है। श्री त्यागी ने कहा कि पार्टी इस मामले में असम के लोगों के साथ है और इस पर उनके साथ समर्थन दिखाने के लिए एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल असम भेजने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि इस प्रतिनिधिमंडल में उनके अलावा पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर भी होंगे। प्रतिनिधिमंडल असम में इस मुद्दे को लेकर आंदोलन कर रहे संगठनों और पार्टी के नेताओं से बातचीत करेगा। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की हुई बैठक में लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के चयन को लेकर एक कमेटी का गठन किया गया। इस कमेटी में पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं उर्जा मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव, जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह शामिल हैं ।
यह भी पढ़े अप्सरा होटल में महिला की गला रेतकर निर्मम हत्या

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में करीब चार घंटे तक सीएम आवास पर चली बैठक के बाद पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव केसी त्यागी और पूर्व सांसद पवन वर्मा ने कहा, जदयू अपने पुराने सभी नीतियों एवं सिद्धांतों पर कायम रहेगी. बैठक में उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर, प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, मंत्री ललन सिंह, अफाक अहमद आदि नेता शामिल हुए. बैठक में यह निर्णय लिया गया कि लोकसभा उम्मीदवार तय करने के लिए वशिष्ठ नारायण सिंह, विजेंद्र प्रसाद यादव और मंत्री राजीव रंजन सिंह पार्टी नेताओं से रायशुमारी कर निर्णय लेंगे. फरवरी को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की पटना में बैठक होगी जिसमें अंतिम निर्णय लिया जायेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.