पटना : पीएमसीएच की खराब स्थिति को सुधारने के लिए मुख्यमंत्री ने दिये निर्देश

0
115

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीएमसीएच की स्थिति को जल्द सुधारने के लिए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार को स्वयं जाकर मुआयना करने का निर्देश दिया. सिस्टम को तुरंत ठीक करने और इसमें सुधार लाने के लिए पूरे सिस्टम की जांच करने को कहा.

सोमवार को मुख्यमंत्री के लोक संवाद कार्यक्रम के दौरान मुजफ्फरपुर के स्मिथ कुमार ने पीएमसीएच की खराब व्यवस्था की शिकायत करते हुए कहा कि एक मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट बनवाने के लिए सुबह से शाम तक का समय लग गया. डॉक्टर ने उन्हें 10 मिनट बैठने का बोलकर डेढ़ घंटे के बाद आये. इस मामले पर सीएम ने सख्त नाराजगी जताते हुए कहा कि यह कोई तरीका है कि एक फिटनेस सर्टिफिकेट के लिए किसी को सुबह से शाम तक बैठना पड़ रहा है.

कितनी भी भीड़ हो, काम करने का कोई सिस्टम होना चाहिए. काम का वर्गीकरण होना चाहिए या इस तरह के काम के लिए कोई ऑनलाइन व्यवस्था होनी चाहिए. इसे जल्द ठीक करने की जरूरत है. लोक संवाद के दौरान पांच लोगों ने सुझाव दिये.
पोस्टमार्टम हाउस में लगे सीसीटीवी कैमरा

भागलपुर के दीपक झा ने पोस्टमार्टम हाउस में सीसीटीवी कैमरा लगाने और छात्रों को पोस्टमार्टम करने का मौका देने का सुझाव दिया.
सीएम ने सीसीटीवी कैमरा लगाने के सुझाव की सराहना करते हुए कहा कि इस पर अमल होना चाहिए. साथ ही स्वेच्छा से अंगदान करने वालों को धन्यवाद पत्र देने की भी पहल करने को कहा. विभागीय प्रधान सचिव ने कहा कि मेडिकल छात्रों के कोर्स में ही पोस्टमार्टम करने का प्रावधान है.

उन्होंने कहा कि 31 मार्च तक सभी मेडिकल कॉलेज में आई बैंक शुरू हो जायेगा. इसके अलावा मुकेश कुमार हिसारिया ने मेडिकल कॉलेजों में ब्लड ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन में पीजी की पढ़ाई और मेडिकल बैंक की स्थापना के लिए तीन हजार वर्ग फुट जगह देने का सुझाव दिया. विभागीय प्रधान सचिव ने कहा कि बिहार के किसी मेडिकल कॉलेज में फिलहाल इसकी पढ़ाई नहीं होती है. इसकी व्यवस्था करने पर विचार किया जा रहा है. मार्च तक सभी जिला अस्पतालों में ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन आ जायेगी. पीएमसीएच में डॉक्टर, लैब टेक्निशियन और नर्स की बहाली जल्द होगी. थैलेसिमिया के मरीजों को मुफ्त ब्लड देने का प्रावधान है. अगर यह नहीं मिलता है, तो इसकी जांच होगी.

लोक संवाद कार्यक्रम के दौरान पीएमसीएच की बदहाल स्थिति सामने आने पर दिया सख्त निर्देश
सबसे ज्यादा स्वास्थ्य क्षेत्र से आये सुझाव
पारा मेडिकल काउंसिल स्थापित करने की हो पहल

मधुबनी के भारत भूषण यादव ने सूबे में पारा मेडिकल काउंसिल समेत अन्य सुविधाएं नहीं होने का मामला उठाते हुए कहा कि दूसरे राज्यों में भी यहां के छात्र नौकरी नहीं कर पाते. क्योंकि, उनसे रजिस्ट्रेशन नंबर मांगा जाता है. इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए सीएम ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में ही इन्हें डिग्री की पढ़ाई करने की सुविधा प्रदान की जाये. साथ ही पारा मेडिकल काउंसिल स्थापित करने की पहल जल्द की जायेगी.
पटना : रामगढ़ की घटना रेप और हत्या की नहीं : डीजीपी

पटना : कैमूर जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र की घटना पर डीजीपी केएस द्विवेदी ने कहा कि शुरुआती जांच में यह घटना रेप और हत्या की नहीं दिखती है. हालांकि, मृत लड़की की पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आयी है.

लोक संवाद कार्यक्रम के दौरान डीजीपी ने कहा कि कैमूर वाली घटना में 17 लोगों को अभियुक्त बनाया गया है. सभी की गिरफ्तारी शुरू हो गयी है. जिस लड़की की मौत हुई है, वह बैंक से चार हजार रुपये लाने गयी थी, लेकिन बैंक में कैश नहीं होने की बात कह कर उसे लौटा दिया गया.

वह मानसिक रूप से पहले से ही परेशान थी, लेकिन इस बात ने उसे ज्यादा व्यथित कर दिया और उसने चलती ट्रेन के सामने कूद कर जान देने की कोशिश की. इसके बाद परिजनों ने उसे मोहनिया अस्पताल में भर्ती कराया. उसे वाराणसी भेज दिया गया, अगले दिन उसकी मौत हो गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.