रिम्स में गिरते-गिरते बचे लालू, सेवक-गार्ड ने संभाला

0
327

पटना। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की तबीयत नहीं सुधर रही है। कभी कांधे में दर्द, कभी जोड़ों के दर्द से परेशानी हो रही है। बीपी भी रह-रह कर बढ़ जा रहा है। रांची के रिम्स में मंगलवार को उस समय अफरातफरी मच गई, लालू प्रसाद यादव गिरते-गिरते बचे। उन्हें उनकी सेवा में लगे सेवक व गार्ड ने संभाला। बताया गया कि उन्हें अचानक से चक्कर आ गया था, जिसकी वजह से यह स्थिति हुई।  उधर लालू के चक्कर आने की बात सुनते ही यूनिट इंचार्ज डाॅ उमेश प्रसाद आनन-फानन में पहुंचे। इसके साथ ही डॉक्टरों की टीम पहुंच गई। शुगर जांच की गई। बीपी व इसीजी की भी जांच हुई। जांच में बीपी बढ़ा हुआ मिला। हालांकि मंगलवार की देर शाम में फिर से लालू के बीपी की जांच हुई तो वह नॉर्मल पाया गया तथा शुगर लेवल 180 मिला. जांच के बाद में बताया गया कि लालू प्रसाद यादव रिम्स में धूप में काफी देर से बैठे थे। लंबे समय से धूप में बैठने के कारण उन्हें चक्कर आ गया था। यूनिट इंचार्ज डॉ उमेश प्रसाद की मानें तो कोई चिंता की बात नहीं है। वे देर तक खाना नहीं खाए थे। साथ ही काफी देर तक धूप में बैठे रहे। इस वजह से चक्कर आया होगा। वैसे जांच में फिलहाल सबकुछ नॉर्मल है। गौरतलब है कि लालू पैरी ऑर्थराइटिस के दर्द से भी पीड़‍ित हैं। उन्हें डायथर्मी से इलाज कराने की सलाह दी गई है। लेकिन रिम्स में डायथर्मी मशीन की स्थिति ठीक नहीं है। ऐसे में पैरी आॅर्थराइटिस का सही से उपचार नहीं हो रहा है। चूंकि वे हाई प्रोफाइल कैदी हैं, इसलिए उनका इलाज बाहर में भी नहीं किया जा सकता है। इसके लिए अनुमति की जरूरत होगी। सूत्रों की मानें तो पैरी ऑर्थराइटिस की वजह से शरीर के जोड़ों में जकडऩ सी बनी रहती है। हालांकि उन्हें व्यायाम करने की सलाह दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.