पटना में रालोसपा नेताओं की पिटाई के विरोध में बिहार बंद का आवागमन पर असर

0
78

बिहार की राजधानी पटना में राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) के ‘आक्रोश मार्च’ पर हुए पुलिस लाठीचार्ज के विरोध में रालोसपा के सोमवार को एक दिवसीय बिहार बंद का आवागमन पर प्रतिकूल असर देख जा रहा है। प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर उतरकर सड़कें जाम कर दी, जिससे कई क्षेत्रों में आवगमन ठप देखा गया। इस बंद का महागठबंधन के अन्य दलों ने भी समर्थन किया है। पुलिस के अनुसार, बंद समर्थक सोमवार को पटना के डाक बंगला चौराहे और हड़ताली मोड़ पर उतर गए। हड़ताली मोड़ पर सड़क पर टायर जलाकर मार्ग अवरुद्घ कर दिया। डाकबंगला पर भी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा और रालोसपा के कार्यकर्ता पहुंचे और लाठीचार्ज के विरोध में सरकार के विरोध में नारेबाजी की।

इस दौरान हालांकि पटना की अधिकांश दुकानें खुली हुई दिखीं।

इधर, बक्सर में बंद समर्थकों ने रेल पटरी को जाम कर प्रदर्शन किया। नालंदा, आरा और सुपौल में भी बंद समर्थक सड़कों पर उतरे और आग जलाकर सड़क जाम कर दी।

इधर, सड़क पर उतरे हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रदेश के अध्यक्ष वृषिण पटेल ने कहा कि शिक्षा में सुधार के लिए प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज लोकतंत्र की हत्या है। इसी घटना के विरोध में हम लोग सड़कों पर उतरे हैं। उन्होंने इस बंद को स्वत: स्फूर्त बताया।

उल्लेखनीय है कि रालोसपा की तरफ से शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर यहां शनिवार को निकाले गए आक्रोश मार्च में शामिल कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई थी। इस दौरान पुलिस लाठीचार्ज में रालोसपा प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा सहित कई कार्यकर्ता घायल हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.