बिहार की राजधानी में डेयरी उद्योग को विश्व में शीर्ष पर पहुंचाने की बनेगी रूपरेखा ,मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज करेगे उद्घाटन

0
252

इंडियन डेयरी एसोसिएशन के पूर्वी जोन के बिहार चैप्टर द्वारा गुरुवार से तीन दिवसीय सम्मेलन सम्राट कन्वेंशन हॉल में शुरू होगा। उद्‌घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे। इंडियन डेयरी एसोसिएशन बिहार चैप्टर के महासचिव सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस, अंतरराष्ट्रीय डेयरी फेडरेशन के अध्यक्ष कैरोलीन एमण्ड, इंडियन डेयरी एसोसिएशन के अध्यक्ष जीएस राजौरिया, राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के अध्यक्ष दिलीप रथ, राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान के निदेशक डॉ. आरआर बी सिंह आदि मौजूद रहेंगे।

ज्ञान की भूमि पाटलिपुत्र में गंगा के पावन तट पर ऐतिहासिक गाँधीमैदान के उत्तरी छोर पर अगले तीन दिनों तक दूध का ज्ञान बहेगा । पहली बार बिहार के दुग्ध उत्पादको के लिए यह स्वर्णिम पल होगा जब उनके स्थल पर ऐसा अद्भुत सयोग बना है जहाँ ज्ञान से लेकर उत्पाद तक को अपने मे आत्मसात कर सकते है ।
दुग्ध उत्पादकों की आय वृद्धि हेतु नवीन दृष्टिकोण को मूल मंत्र मानते हुए बिहार की राजधानी पटना में पहली बार तीन दिवसीय “47वाँ डेयरी इन्डस्ट्री कॉन्फ्रेंस” आज से सम्राट अशोक कन्वेंशन सेंटर में आयोजित किया जा रहा है जिसका विधिवत उद्घाटन दिन में 11 बजे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेगे ।
भारत मे दुग्ध उत्पादों को बेहतर बनाने के लिए , किसानों को समुचित लाभ दिलाने के लिए 1948 में इंडियन डेयरी एसोसिएशन ( IDA) की स्थापना हुई । प्रत्येक वर्ष हिंदुस्तान के किसी एक शहर में इसका आयोजन किया जाता है । एसोसिएशन के सदस्य, जो दुग्ध उत्पादक सदस्य, पेशेवर व्यवसायी, वैज्ञानिक एवं इससे संबंधित उपकरण उत्पादक इसमें भाग लेकर कई विषयों पर चर्चा करते है , जिससे दुग्ध के क्षेत्र में समुचित विकास की रफ्तार जारी रहे । इस आयोजन के माध्यम से देश की बड़ी बड़ी कम्पनियां अपने नवीनतम उत्पादों को प्रदर्शित करती है । जिससे उस क्षेत्र के विकास में अहम योग्यदान होता है ।
पटना में आयोजित इंडियन डेयरी एसोसिएशन के “पूर्वी जोन के बिहार चैप्टर” द्वारा आज दिनांक 7 से 9 फरवरी तक आयोजित कॉन्फ्रेंस में अंतरराष्ट्रीय डेयरी फेडरेशन के अध्यक्ष मैडम कैरोलीन एमण्ड, इंडियन डेयरी एसोसिएशन के अध्यक्ष जी. एस. राजौरिया के साथ बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस, राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के अध्यक्ष दिलीप रथ,राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान के निदेशक डा आर आर बी सिंह सहित कई अन्य विषिष्ट व्यक्ति उपस्थित रहेंगे।

सुधा दाना कैटल फील्ड में बेस्ट क्वालिटी मार्क के लिए सलेक्ट
इसकी जानकारी देते हुए इंडियन डेयरी एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ जीएस राजौरिया ने पटना डेयरी प्रोजेक्ट सुधा डेयरी में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बुधवार को बताया कि कम्फेड के सुधा दाना को कैटल फील्ड में बेस्ट क्वालिटी मार्क के लिए नेशनल डेयरी एसोसिएशन ने सेलेक्ट किया है. इसके लिए पटना डेयरी प्रोजेक्ट को अवार्ड दिया जायेगा.
उन्होंने बताया की भारत मे डेयरी के विकास में जिन हस्तियों का अमूल्य योगदान रहा है उन पर विस्तार से चर्चा होगी. डेयरी के विकास और किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार और एसोसिएशन के स्तर पर क्या- क्या उपाय किये जा सकते हैं उन सभी पहलुओं पर इस तीन दिनों के सम्मेलन में मंथन होगा. इस सम्मेलन से भारत को विश्व में डेयरी उद्योग में शीर्ष पर पहुंचाने का खाका भी तैयार किया जायेगा.
डेयरी से जुड़े देश -विदेश के दिग्गज विशेषज्ञों के व्याख्यान से डेयरी व्यवसाय वालों और किसानों को काफी फायदा होगा. राजस्थान, गुजरात, त्रिपुरा, मध्य प्रदेश व पश्चिम बंगाल समेत पूरे देश और विदेशों से भी डेयरी से जुड़े दिग्गजों का जमावड़ा लगेगा. यह अंतरराष्ट्रीय स्तर का सम्मेलन है .
भारत में श्वेत क्रांति कैसे आयी इस पर मंथन होगा.  इस सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य यह है कि  किसानों की आमदनी दोगुना ही नहीं चार गुना कैसे किया जाये.  इस सम्मेलन में रिसर्चर साइंटिस्ट समेत अन्य विशेषज्ञ इस पर चर्चा करेंगे कि क्या- क्या उत्पादन बढ़ाया जाये ताकि देश के किसान खुशहाल हों.  श्वेत क्रांति के जनक कुरियन के साथ काम कर चुके दिग्गजो का व्याख्यान भी इस सम्मेलन में होगा .
प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुधा डेयरी के प्रबंध निदेशक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन की जेनरल मैनेजर डॉ कैरोलिन एमंड  कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पटना पहुंच गयी हैं. सुधा डेयरी ने एयरपोर्ट पर उनका भव्य स्वागत किया.    प्रेस कॉन्फ्रेंस में वैशाल पाटलिपुत्र दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लि  के अध्यक्ष संजय कुमार सिंह समेत अन्य भी मौजूद रहे.

कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष पटना डेयरी के प्रबंध निदेशक सुधीर कुमार ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि इस कार्यक्रम का मुख्य उधेश्य डेयरी क्षेत्र में किये जा रहे अनुसंधान, योजना उत्पादन, विपणन, प्रसंस्करण, इत्यादि के संबंध में हुए कार्यों एवं उपलब्धियों पर चर्चा एवं उसे आगत प्रतिभागियों को जानकारी देने का प्रयास होगा। विशेष रूप से नवीनतम तकनीक अपनाते हुए दुग्ध उत्पादकों की आय में वृद्धि लाये जाने की चर्चा की जाएगी एवं तत्संबंधी विभिन्न समितियों का सुझाव संबंधित विभागों, संस्थाओं को दिये जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.