ढाका आग हादसा : 4 बच्चों सहित 70 लोग मरे

0
282

ढाका,  बांग्लादेश के ओल्ड ढाका के चौकबाजार इलाके की कई बहुमंजिला इमारतों में गुरुवार को भीषण आग लग गई जिसमें चार बच्चों, पांच महिलाओं सहित 70 लोगों की मौत हो गई और 56 लोग घायल हो गए। ‘ढाका ट्रिब्यून’ की रिपोर्ट के अनुसार, आग सबसे पहले एक इमारत में ट्रांसफार्मर विस्फोट के कारण लगी जो बाद में कम से कम सात-आठ अन्य इमारतों में फैल गई। बांग्लादेश वायुसेना के हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल आग की लपटों को बुझाने के लिए किया गया।

दमकल सेवा कंट्रोल रूम के अनुसार, चौकबाजार के चुरीहट्टा के नंदा कुमार लेन के हाजी वाहेद मैंशन की एक रासायनिक इकाई में बुधवार रात 10.35 पर लगी जिसे बुझाने के लिए 31 फायर स्टेशनों की 37 इकाइयों ने पांच घंटे तक कड़ी मशक्कत की।

चौकबाजार पुलिस स्टेशन के प्रभारी जांच अधिकारी मुरादुल इस्लाम ने कहा कि 67 शव मुर्दाघर में रखे गए हैं जिनमें 58 पुरुष, पांच महिलाएं और बाकी बच्चे हैं। अब तक केवल 19 पीड़ितों की पहचान हो पाई है।

घायलों का इलाज ढाका मेडिकल कॉलेज अस्पताल (डीएमसीएच) और मिटफॉर्ड अस्पताल में किया जा रहा है।

इससे पहले ढाका दमकल सेवा कंट्रोल रूम के अधिकारी मिजानुर ने अखबार से 70 लोगों के मरने की पुष्टि की थी।

घटनास्थल का दौरा करने के बाद गृह मंत्री असदुज्जमां खान कमाल ने मीडिया को बताया कि आग पर पूरी तरह से नियंत्रण में कर लिया गया है। सड़क, परिवहन व सेतु मंत्री ओबैदुल क्वादर ने भी सुबह घटनास्थल का दौरा किया था।

डीएमसीएच के एक रजिस्ट्रार के अनुसार, 56 घायलों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।

ढाका मेट्रोपॉलिटन पुलिस (डीएमपी) के अधिकारियों ने कहा कि क्षेत्र में स्थित कई रासायनिक गोदामों के कारण आग तेजी से फैल गई।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आग इतनी भयावह थी कि रात लगभग 1.45 बजे हाजी वाहेद मैंशन, जिसमें प्लास्टिक उत्पादों का गोदाम था, पूरी तरह झुक गया।

अग्निशमन सेवा के उप निदेशक दिलीप कुमार घोष ने पुष्टि की कि आग तड़के तीन बजे के आसपास पूरी तरह से बुझ गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.