जब बर्बादी की कगार पर पहुंच गई थीं एकता कपूर, प्रोडक्शन हाउस बंद करने तक की आ गई थी नौबत

0
160

मुंबई. एकता कपूर आज टीवी क्वीन के नाम से जानी जाती हैं। उनके बालाजी टेलीफिल्म्स के शोज आज लगभग हर चैनल पर आते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक वक्त था, जब एकता बर्बादी की कगार पर पहुंच चुकी थीं। वे प्रोडक्शन हाउस बंद करने की कंडीशन में पहुंच गई थीं। इस बात का खुलासा एकता के पिता और अपने जमाने के सुपरस्टार जितेन्द्र ने किया। ‘सुपर डांसर चैप्टर 3’ में पहुंचे थे जितेन्द्र…

– 80 और 90 के दशक लीजेंड्स जितेन्द्र और जया प्रदा ‘सुपर डांसर चैप्टर 3’ के अपकमिंग एपिसोड की शूटिंग के लिए पहुंचे थे। दोनों ने न केवल अपने गोल्डन एरा की यादें ताजा की, बल्कि कंटेस्टेंट्स का हौसला बढ़ाने के लिए अपनी लाइफ के एक्सपीरियंस भी बताए। एपिसोड में 7 साल की बच्ची जयश्री गोगोई ने पहली बार अपनी सुपर गुरु अनुराधा के साथ सदाबहार गीत ‘तोहफा’ पर परफॉर्मेंस दी। यह गाना जितेन्द्र और जया प्रदा पर फिल्माया गया था। सुपर डांसर में जयश्री की जर्नी संघर्षपूर्ण रही, क्योंकि शो के थर्ड सीजन में चुने जाने से पहले उन्हें दो बार रिजेक्शन का सामना करना पड़ा।

जयश्री की बात सुन जितेन्द्र ने सुनाई एकता की कहानी

जयश्री की बात सुनकर जितेन्द्र ने कहा, “मैं तुम्हें अपनी बेटी का उदाहरण देता हूं। आप सभी जानते हैं कि मेरी बेटी एकता ने टेलीविजन पर अच्छा काम किया है। लेकिन जब उसने अपनी कंपनी बालाजी टेलीफिल्म्स की शुरूआत की थी, तब मैं एक रिटायर एक्टर था और मेरे पास जितना पैसा था, मैंने उसकी कंपनी में लगा दिया था। उसने दूरदर्शन के लिए शो बनाए। बहुत सी चीजों का खर्च उठाना पड़ा – मेकिंग, टेलिकास्टिंग आदि। जैसे ही कोई शो शुरू होता है, एडवरटाइजर्स शो में इन्वेस्ट करना शुरू कर देते हैं और स्पॉट खरीदते हैं। एकता लगभग 8 महीने तक शोज पर खर्चा करती रहीं, लेकिन कोई इंवेस्टर या एडवरटाइजर बोर्ड पर नहीं आया और उसके पास 25000 सेकंड की बैंकिंग तैयार हो गई थी।”
– जितेन्द्र आगे कहते हैं, “इंवेस्टमेंट रिटर्न से ऊपर जा रहा था। यह देख एकता घबरा गई। यहां तक कि हमने पैसे कमाने की शुरूआत तक नहीं की थी। लेकिन एकता ने हार नहीं मानी, उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे 15 दिन चाहिए। मैंने उसे वक्त दिया और उन 15 दिनों में एकता ने शोज की काया पलट दी और जो 25000 सेकंड का स्पॉट थे, वो भी अच्छे अमाउंट पर बिक गए। वह ऐसा समय था, जब हम शुरूआती घाटे के कारण प्रोडक्शन बंद कर देते हैं, लेकिन एकता ने ऐसा नहीं होने दिया। मैं केवल आपको यह बताना चाहूंगा कि जिन दो वर्षों में आप रिजेक्ट हुए, उनमें आपको प्रैक्टिस करने के लिए पर्याप्त समय मिला और यहां आप आज उसी मंच पर परफॉर्म कर रही हैं। बस अपनी मेहनत और समर्पण के साथ आगे बढ़ें।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.