इन दो बदलावों के साथ उतर सकती है टीम इंडिया

0
243

भारत की नजरें पूरी तरह से आगामी विश्व कप (ICC World Cup 2019) पर टिकी हैं, लेकिन टीम दूसरे टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में बुधवार (27 फरवरी) को जब ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) से भिड़ेगी तो चाहेगी कि घरेलू सीरीज नहीं गंवाए। विशाखापत्तनम में पहले टी-20 में खराब बल्लेबाजी प्रदर्शन के कारण भारत को तीन विकेट ही हार का सामना करना पड़ा था और टीम इंडिया तीन मैचों की सीरीज में 0-1 से पिछड़ रही है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टी-20 मैच बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाना है। पहला टी-20 मैच हारने के बाद इस बार टीम इंडिया अपनी प्लेइंग इलेवन में कुछ बदलावों के साथ उतर सकती है। आइए जानते हैं इस बार कैसी हो सकती है भारत की संभावित प्लेइंग XI:

रोहित शर्माः रोहित पहले टी-20 में नहीं चल पाए। वह पांच रन बनाकर जेसन बेहरनड्रॉफ की गेंद पर आउट हो गए, लेकिन अनुभवी और आक्रामक रोहित दूसरे टी-20 में अपनी फॉर्म दिखाना चाहेंगे।

शिखर धवनः भारतीय बल्लेबाजी पहले टी-20 में बुरी तरह फ्लॉप रही। केएल राहुल और महेंद्र सिंह धौनी के अलावा कोई रन नहीं बना सका। परिणामस्वरूप शिखर धवन की वापसी तय है। बेंगलुरु में अच्छी पारी उनके आत्मविश्वास में इजाफा करेगी।

केएल राहुलः पहले टी-20 में अर्द्धशतक बनाकर राहुल ने काफी विद करण के विवाद के बाद अच्छी वापसी की है। विश्व कप में तीसरे ओपनर के लिए टी-20 और वनडे सीरीज में उनकी परफॉर्मेंस बहुत मायने रखेगी।

विराट कोहलीः पहले मैच में विराट कोहली रन नहीं बना पाए। उन्होंने जंपा की एक गेंद को फ्लिक किया और नाथन कूल्टर नाइल को कैच दे बैठे। टीम इंडिया के कप्तान अपनी पारी में केवल 3 चौके लगा पाए। बैंग्लुरु में उनकी नजर बड़े स्कोर पर होगी।

ऋषभ पंतः जब ऋषभ पंत के टी-20 करियर की बात आती है तो हिट और मिस ही दिखाई पड़ते हैं। दिल्ली का यह बल्लेबाज जब तीसरे नंबर पर खेल रहा था रन आउट हो गया। उन्होंने एक गेंद को कट किया, लेकिन बेहरनड्रॉफ ने डाइव करते हुए गेंद को पकड़कर स्टंप्स पर फेंक दी। पंत रन आउट हो गए। दूसरी टी-20 में पंत खुद को साबित करना चाहेंगे।

महेंद्र सिंह धौनीः पहले टी-20 के बाद धौनी निश्चित रूप से अपनी स्ट्राइक रेट बढ़ाना चाहेंगे। हालांकि उन्होंने अपना संतुलन पहले मैच में भी बनाए रखा लेकिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने उन्हें खुलकर खेलने का अवसर नहीं दिया। दूसरे टी-20 में वह बड़ी पारी खेलना चाहेंगे।

दिनेश कार्तिकः विश्व कप में जगह बनाने के लिए कार्तिक को अपना असर छोड़ना पड़ेगा। हालांकि वह वनडे टीम में शामिल नहीं हैं। नाथन कोल्टर नील द्वारा आउट किए जाने से पहले वह केवल एक रन बना पाए थे। उन्हें एक शानदार पारी की जरूरत है।

युजवेंद्र चहलः विशाखापत्तनम में चहल ने अच्छी गेंदबाजी की। उन्होंने चार ओवरों में 28 रन देकर एक विकेट लिया। उन्होंने आस्ट्रेलियन बल्लेबाजों को परेशान भी किया। उन्हें 14वें ओवर में एकमात्र विकेट मैक्सवेल की मिली। कुलदीप की अनुपस्थिति में उन पर अधिक जिम्मेदारी होगी।

मयंक मार्कंडे: पंजाब के युवा गेंदबाज मयंक के लिए अंतरराष्ट्रीय टी-20 में डेब्यू करना एक बड़ी उपलब्धि रही। हालांकि उन्हें विकेट नहीं मिला, लेकिन उन्होंने 4 ओवर में 31 रन दिए। दूसरे मैच में वह और बेहतर गेंदबाजी करना चाहेंगे।

सिद्धार्थ कौलः अंतिम ओवर में ऑस्ट्रेलिया को 14 रनों की जरूरत थी। उमेश यादव के लिए हीरो बनने का पूरा मौका था, लेकिन उन्होंने यह मौका गंवा दिया और ऑस्ट्रेलिया ने पहला टी-20 तीन विकेट से जीत लिया। टीम प्रबंधन उनकी जगह सिद्धार्थ कौल को खिलाना चाहेगा।

जसप्रीत बुमराहः जसप्रीत बुमराह ने डेथ ओवरों में खुद को विशेषज्ञ गेंदबाज के रूप में स्थापित किया है। उन्होंने लगातार दो गेंदों पर दो विकेट लेकर मैच भारत की तरफ मोड़ दिया था, लेकिन भारत मैच नहीं जीत सका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.