कल आयेंगे पीएम मोदी , संकल्प रैली को करेंगे संबोधित ,मुख्यमंत्री ने लिया गांधी मैदान की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा

0
178
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को पटना आयेंगे. वह दोपहर करीब साढ़े 12 बजे ऐतिहासिक गांधी मैदान में एनडीए की संकल्प रैली को संबोधित करेंगे. रैली को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और लोजपा अध्यक्ष व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान भी संबोधित करेंगे. लोकसभा चुनाव की घोषणा होने वाली है.
एनडीए की रैली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आगमन को लेकर गांधी मैदान की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लिया। इस दौरान पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी साथ थे। अधिकारियों ने गांधी मैदान के चप्पे -चप्पे की सुरक्षा की जानकारी पटना पुलिस के अधिकारियों से ली।मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री के गांधी मैदान से जाने के बाद पटना पुलिस के अधिकारियों ने सुरक्षा उपकरणों की मदद से सभा स्थल व आसपास के क्षेत्रों की सुरक्षा जांच की। बम निरोधक दस्ते व श्वान दस्ते के साथ खुफिया विभाग के अधिकारियों ने सुरक्षा की जांच कई तरीकों से की। जैसा कि पता है कि गांधी मैदान की सुरक्षा जांच लगातार की जा रही है। दो दिन पूर्व से ही सुरक्षा जांच के बाद गांधी मैदान में आम लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गयी है। तीन मार्च को आहूत संकल्प रैली के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं। जिला पुलिस बल के अलावा स्टेट रैफ व अर्ध सैनिक बलों को सुरक्षा में लगाया गया है। गांधी मैदान के अगल-बगल के ऊंचे भवनों पर भी सुरक्षाकर्मी सुरक्षा उपकरणों के साथ तैनात रहेंगे। गांधी मैदान के सभी गेटों पर डोर फिटेड मेटल डिटेक्टर लगाया गया है। इसके अलावा हैंड हेल्ड मेटल डिटेक्टर के साथ सुरक्षाकर्मी सभा स्थल के रास्ते तैनात रहेंगे। दूसरे जिलों से भी बल को मंगाया गया है। हवाई अड्डा से लेकर बेली रोड और फिर गांधी मैदान के रास्ते में कई स्थानों पर बैरिकेडिंग की गयी है।
 ऐसे में एनडीए की साझा रैली को लेकर भाजपा, जदयू और लोजपा ने पूरी ताकत लगा दी है. पूरी राजधानी को होडिंग्स, बैनर, झंडों से पाट दिया गया है. साथ ही जनसंपर्क अभियान को तेज कर दिया गया है.
प्रधानमंत्री नयी दिल्ली से एयरफोर्स के विशेष विमान से  सुबह करीब साढ़े  11 बजे पटना पहुंचेंगे. इसके बाद वह सीधे गांधी मैदान रैली  स्थल पर  पहुंचेंगे. उनके सवा दो घंटे तक यहां रहने की संभावना है. इसके बाद वह  वापस  हवाई अड्डा पहुंचेंगे और फिर विशेष विमान से नयी दिल्ली लौट जायेंगे.
प्रधानमंत्री के आगमन के मद्देनजर रैली की सुरक्षा व्यवस्था को पूरी तरह से  फूलप्रूफ कर दिया गया है. गांधी मैदान के डी एरिया (स्टेज के पास का  आंतरिक सुरक्षा घेरा) और इनर सर्किल को एसपीजी ने सील कर  दिया है. इस स्थान के अंदर अब कोई प्रवेश नहीं कर सकेगा.
 एसपीजी की विशेष  सुरक्षा टीम ने इस पूरे क्षेत्र को अपने कब्जे में लेकर इसकी निगाहबानी  शुरू कर दी है. इस इलाके में फोटोग्राफी समेत अन्य किसी तरह की गतिविधि पर  भी रोक लगा दी गयी है.
पीएम के आगमन के एक दिन पहले शनिवार और रैली के दिन सुबह डॉग स्क्वायड के माध्यम से चेकिंग की जायेगी. जिला प्रशासन ने ब्ल्यू बुक के मुताबिक सभी इंतजाम को लागू  करने की शुरुआत कर दी है.

पटना को जोड़ने वाले 3 पुलों पर वन-वे होगी ट्रैफिक

अगर आप 2 मार्च से 3 मार्च के बीच पटना शहर में प्रवेश कर रहे हैं, या फिर पटना से बाहर जा रहे हैं, तो आपकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दरअसल रविवार 3 मार्च को पटना में एनडीए की संकल्प रैली को देखते हुए पटना आने के लिए वन-वे ट्रैफिक हो जाएगा. यह आज यानि शनिवार रात 9 बजे से होगा.
इसके तहत गंगा नदी पर बने दानापुर- सोनपुर जेपी सेतु, पटना- हाजीपुर महात्मा गांधी सेतु और सोन नदी पर कोइलवर स्थित अब्दुल बारी पुल पर आवाजाही प्रभावित रहेगी. हालांकि एम्बुलेंस सहित सभी आपातकालीन वाहन की आवाजाही की छूट रहेगी.
इस दरम्यान पीपा पुल पर भी मालवाहक वाहनों के परिचालन पर रोक रहेगी. यह व्यवस्था रैली के दिन तीन मार्च तक प्रभावी होगा. तीन मार्च की दोपहर दो बजे से पटना से हाजीपुर की तरफ जाने वाले वाहनों का परिचालन होगा, जबकि सोमवार से पीपा पुल पर वाहनों का परिचालान सामान्य ढंग से पूर्ववत होगा.

यह भी पढ़े  मीठापुर-चिरैयाटांड ओवरब्रिज का मुख्यमंत्री ने किया उदघाटन

रैली के होर्डिग से पटी राजधानी

लोकसभा चुनाव कार्यक्रम घोषित होने से ठीक पहले तीन मार्च को ऐतिहासिक गांधी मैदान में हो रही राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की संकल्प रैली को लेकर होर्डिग-बैनर से राजधानी पट गयी है। राजधानी का कोई मुहल्ला नहीं बचा है, जहां राजग नेताओं के बैनर-होर्डिग नहीं लगा हो। राजग में शामिल तीनों दल भारतीय जनता पार्टी, जनता दल यूनाईटेड और लोक जनशक्ति पार्टी के नेताओं के बीच होर्डिग-बैनर लगाने को लेकर होड़ मचा हुआ है। भाजपा के बड़े नेता बड़े-बड़े होर्डिग साइट पहले से बुक करा कर अपने होर्डिग लगवा लिये हैं तो छोटे नेता सड़क किनारे अपने बैनर लगवा रहे हैं। राजग के छोटे से लेकर बड़े नेताओं के बीच प्रधानमंत्री को अपनी-अपनी तस्वीर वाले होर्डिग-बैनर दिखाने की प्रतिस्पर्धा मची हुई है। इसी का नतीजा है कि हवाई अड्डा से लेकर गांधी मैदान तक तोरणद्वार और बड़े-बड़े होर्डिग से पट गया है। इनमें लगी तस्वीरों में भी राजग के बड़े नेताओं का समन्वय दिखाई दे रहा है। राजग द्वारा लगाये गये होर्डिग में मुख्य रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की तस्वीर ऊपर लगी हुई है। वहीं होर्डिग में नीचे उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस की तस्वीर है। राजग के बड़े नेताओं के साथ ही केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, राज्यसभा सदस्य आरके सिन्हा, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, पंचायती राज मंत्री कपिलदेव कामत, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, जदयू के राष्ट्रीय महासचिव आरसीपी सिंह, विधान पार्षद सच्चिदानंद राय, विधान पार्षद संजय मयूख, भाजपा के प्रदेश महासचिव राजेंद्र सिंह जैसे सैकड़ों नेताओं के होर्डिग और बैनर से शहर पट गया है। वहीं गांधी मैदान के चारों तरफ भाजपा, जदयू और लोजपा के झंडे भी लगाये गये हैं।

यह भी पढ़े  तेजस्वी, सिद्दिकी समेत 6 पूर्व मंत्रियों को खाली करना होगा सरकारी बंगला, आदेश जारी

राजग ने की रैली में आने वाले लोगों के ठहराने व खाने की व्यवस्था

पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा है कि तीन मार्च को गांधी मैदान में एनडीए की होने वाली संकल्प रैली न केवल ऐतिहासिक बल्कि अभूतपूर्व होगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को करीब से देखने-सुनने के लिए क्या बूढ़े, क्या जवान, सबों में गजब का उत्साह है।यादव ने बताया कि राज्य के विभिन्न भागों में उनके जन-सम्पर्क अभियान और रैली में आमंत्रित करने के आग्रह के दौरान गांव-देहात के बूढ़े-बुजुगरे ने भी प्रधानमंत्री को आशीर्वाद देने के लिए आमंतण्रस्वीकारा है। उन्होंने पीला चावल देकर लोगों को पटना आने का आमंतण्रदिया है। शुभ कार्य के लिए पीला चावल देकर आमंत्रित करना भारतीय संस्कृति है। उपलब्धियों से लबरेज एनडीए की सरकार के कार्यकाल के पांच वर्ष के शासन में कांग्रेस की 55 साल की हुकूमत को पूरी तरह धो-पोछ दिया है।

डेढ़ लाख लोगों के ठहरने की व्यवस्था : वशिष्ठ :
  जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव पर कहा कि प्रधानमंत्री ने देश का सफल नेतृत्व किया है. रैली में उनके साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार और लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान शामिल होंगे.
लोगों ने खुद रैली में आने का मन बनाया 
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि लोगों ने खुद रैली में आने का मन बनाया है. यह नये भारत के निर्माण और देश से आतंकवाद को मिटाने के लिए संकल्प की रैली है. देश की मौजूदा परिस्थितियों को लेकर  इसमें बिहार के लोग एकजुट होकर प्रधानमंत्री का हौसला बुलंद करेंगे.
जितने लोग गांधी मैदान में, उनसे तीन गुना अधिक मैदान के बाहर होंगे : पारस 
लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष व मंत्री पशुपति कुमार पारस ने कश्मीर की घटना पर कहा है कि इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भूमिका बेहतरीन रही है. अगली बार दो तिहाई बहुमत से केंद्र में एनडीए की सरकार बनेगी. कश्मीर की घटना के बाद मोदी ऐतिहासिक पुरुष हो गये हैं. उन्होंने कहा कि संकल्प रैली में जितने लोग गांधी मैदान में रहेंगे, उनसे तीन गुना अधिक लोग मैदान के बाहर रहेंगे. सभी के आने-जाने, रहने और खाने-पीने की व्यवस्था विधायकों, सांसदों व मंत्रियों के आवास पर की गयी है.
लोगों को आमंत्रण देने को युवा जदयू ने निकाली बाइक रैली 
पटना :  एनडीए की तीन मार्च को आयोजित संकल्प रैली में लोगों को आमंत्रित करने के लिए युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुशवाहा के नेतृत्व में बाइक रैली रवाना हुई. पार्टी के प्रदेश कार्यालय में बाइक रैली को जदयू के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा में पार्टी के नेता आरसीपी सिंह ने झंडी दिखाकर रवाना किया.
 बाइक सवार पार्टी कार्यकर्ताओं ने पटना में घूम-घूमकर लोगों को संकल्प रैली में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया. इस मौके पर पार्टी के प्रदेश महासचिव डॉ नवीन आर्य, पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय सिंह, विधान पार्षद संजय गांधी, कार्यालय सचिव अनिल सिंह, परमहंस कुमार आदि मौजूद रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.