पणजी: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को गोवा में परंपरागत मछुआरों के एक समूह को आश्वासन दिया कि अगर इस साल केंद्र में उनकी पार्टी सत्ता में आती है, तो मत्स्य पालन के लिए एक अलग केंद्रीय मंत्रालय बनाया जाएगा. शुक्रवार को गोवा पहुंचे राहुल ने खनन पर निर्भर लोगों, पारंपरिक मछुआरों, तटीय विनियमन क्षेत्र (सीआरजेड) अधिसूचना में हालिया संशोधन और वास्को शहर में कोयला प्रबंधन का विरोध करने वाले पर्यावरणविदों के साथ शनिवार को यहां कई बैठकें कीं.

नेशनल फिशरवर्कर्स फोरम के उपाध्यक्ष ओलेन्सियो सिमोएस ने कहा, ”राहुल गांधी ने हमें आश्वासन दिया कि मत्स्य पालन और मछुआरा कल्याण के लिए एक अलग मंत्रालय बनाया जाएगा.” उन्होंने कहा कि राहुल गांधी आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी के घोषणापत्र में एक अलग मंत्रालय की मांग को शामिल करने पर सहमत हुए हैं. मछुआरा समुदाय ने सीआरजेड अधिसूचना 2019 को अपने समुदाय के लिए हानिकारक बताते हुए उसे रद्द करने की भी मांग की.

गांधी ने वास्को में मुरगांव पोर्ट ट्रस्ट में कोयला खनन के कारण उत्पन्न प्रदूषण से प्रभावित और उस पर आश्रित लोगों की शिकायतें सुनने के लिए उनके प्रतिनिधियों से मुलाकात भी की. कांग्रेस प्रमुख बैठकों के तुरंत बाद कर्नाटक रवाना हो गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.