टॉम वडक्कन का जाना पार्टी के लिए कोई मुद्दा नहीं : कांग्रेस

0
213

तिरुवनंतपुरम, केरल में कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार को कहा कि टॉम वडक्कन का पार्टी छोड़ना कांग्रेस के लिए कोई मुद्दा नहीं है। टॉम, कांग्रेस की केरल इकाई के प्रवक्ता थे। कांग्रेस प्रवक्ता जोसेफ वजाकान ने कहा कि जहां तक केरल में पार्टी का सवाल है, टॉम वडक्कन राज्य में कभी भी किसी भी स्तर पर शामिल नहीं रहे।

जोसेफ ने मीडिया को बताया, “हमने वडक्कन को केवल टीवी चैनलों पर देखा। केरल में उनकी कोई जगह या भूमिका नहीं थी। उनका जाना किसी भी प्रकार से हमें प्रभावित नहीं करेगा।”

कांग्रेस सचिव और पूर्व विधायक पी.सी. विष्णुनाथ ने कहा कि वह वडक्कन के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने पर इतना हो-हल्ले मचाए जाने का मतलब नहीं समझ पा रहे हैं।

विष्णुनाथ ने कहा, “वडक्कन ऐसे व्यक्ति हैं, जो केरल के एक भी स्थानीय निकाय पर किसी तरह का प्रभाव नहीं छोड़ पाएंगे। वह आखिरकार हैं कौन? हमारी भाजपा से केवल यही दरख्वास्त है कि वे हमेशा उन्हें अपने पास रखे। कांग्रेस ने अतीत में ऐसे कई अवसरवादी देखे हैं और उनका कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला।”

केरल के त्रिशूर से ताल्लुक रखने वाले वडक्कन ने वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले त्रिशूर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के लिए अपने प्रभुत्व का प्रयोग करने का प्रयास किया था, लेकिन कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं ने उनके प्रयास को नाकाम कर दिया था। निराश वडक्कन ने अब भाजपा का दामन थाम लिया है।

वहीं केरल की भाजपा इकाई के अध्यक्ष पी.एस. श्रीधरन पिल्लई ने कहा कि कई और कांग्रेस नेता उनकी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।

पिल्लई ने कहा, “वडक्कन तो सिर्फ एक हैं। आप इंताजर कीजिए और देखिए और आ रहे हैं। लेकिन मैं खुलासा नहीं करूंगा कि वे कौन हैं।”

वडक्कन ने मीडिया को बताया कि पुलवामा में आत्मघाती आतंकी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच कांग्रेस ने जिस तरह से सशस्त्र बलों पर सवाल उठाए, उससे वह बहुत आहत थे।

उन्होंने कहा, “मैंने अपने जीवन का महत्वपूर्ण समय कांग्रेस को दिया। लेकिन, पार्टी में वंशवाद की राजनीति अब चरम पर है..वहां आत्मसम्मान रखनेवाले लोगों के लिए कोई जगह नहीं है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.