नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दो जगहों से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे. अमेठी के अलावा राहुल गांधी अमेठी के अलावा केरल के वायनाड से चुनाव लड़ेंगे. कांग्रेस नेता एके एंटनी और रणदीप सुरजेवाला ने आज इसका एलान किया. कांग्रेस नेताओं ने कहा कि दक्षिण भारत के तीन राज्यों केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु से लगातार मांग उठ रही थी कि राहुल गांधी दक्षिण भारत की एक सीट से भी चुनाव लड़ें.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ”आज एक सुखद दिन है, राहुल गांधी ने कई बार कहा है कि अमेठी उनकी कर्मभूमि है. अमेठी से उनका रिश्ता परिवार के सदस्य के रूप में है. केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु से लगातार मांग उठ रही थी कि वो दक्षिण भारत की एक सीट से चुनाव लड़ें. इसलिए उन्होंने केरल की वायनाड सीट से लड़ने का फैसला किया है. वायनाड भौगोलिक और सांस्कृतिक रूप से तीनों राज्यों का प्रतिनिधित्व करती है.”

बीजेपी का हमला- अच्छा हुआ इससे अमेठी के लिए निर्णय आसान होगा
कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने हमला बोला है. महेश शर्मा ने ट्वीट किया कि अच्छा हुआ, इससे अमेठी की जनता को निर्णय लेना और भी आसान हो गया. जनता नामदार को नहीं कामदार को चुनेगी. अमेठी साबित करेगी कि अब भारत में सिर्फ “पॉलीटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस” ही चल सकती है.

स्मृति ईरानी ने भी राहुल पर साधा था निशाना
बता दें कि काफी लंबे समय से इस बात की चर्चा थी कि राहुल गांधी दो जगह से चुनाव लड़ सकते हैं. एबीपी न्यूज़ ने भी आपको सूत्रों के हवाले से पहले ही ये खबर दी थी. अमेठी से इस बार बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को टिकट दिया है. राहुल गांधी के दो जगह से चुनाव लड़ने की खबर पर स्मृति ईरानी ने तंज कसा था. उन्होंने ट्वीट किया था, “अमेठी ने भगाया, जगह-जगह से बुलावे का स्वांग रचाया, क्योंकि जनता ने ठुकराया. सिंहासन खाली करो राहुल जी कि जनता आती है.” इस ट्वीट के साथ ईरानी ने #BhaagRahulBhaag भी इस्तेमाल किया था.

क्या मोदी जी ने डरकर गुजरात छोड़ा था? – कांग्रेस
स्मृति ईरानी के हमले को लेकर पूछे गए सवाल पर सुरजेवाला ने कहा, ”मोदी जी गुजरात छोड़कर वाराणसी से चुनाव क्यों लड़े? क्या वो गुजरात को लेकर आश्वस्त नहीं थे? ये बहुत अपरिपक्व और बचकानी बातें हैं. वो (स्मृति ईरानी) इस बार हार की हैट्रेकि बनाएंगी.” चुनाव के बाद कौन सी छोड़ेंगे राहुल गांधी? इस सवाल पर सुरजेवाला ने कहा कि चुनाव के बाद राहुल सभी 130 करोड़ भारतीयों का प्रतिनिधित्व करेंगे. जो बात भविष्य के गर्भ में है उसकी व्याख्या हम बाद में करेंगे.

केरल: लेफ्ट ने किया राहुल गांधी उम्मीदवारी का विरोध
राहुल गांधी की वायनाड से उम्मीदवारी के एलान के बाद विपक्ष में फूट पड़ती दिखाई दे रही है. लेफ्ट ने राहुल गांधी की उम्मीदवारी के एलान पर कहा कि हम उन्हें वायनाड से हराएंगे. सीपीआईएम के पूर्व महासचिव प्रकाश करात ने कहा, ”वायनाड से राहुल गांधी को मैदान में उतारने का कांग्रेस का निर्णय अब केरल में वामपंथ के खिलाफ लड़ने की उनकी प्राथमिकता को दर्शाता है. यह बीजेपी से लड़ने के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रतिबद्धता के खिलाफ है. जैसा कि केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट है जो वहां बीजेपी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.