लेह/श्रीनगर, जम्मू एवं कश्मीर के अनंतनाग में सोमवार को लोकसभा चुनाव के तीसरे और आखिरी चरण के मतदान में स्थिति काफी निराशाजनक रही। क्षेत्र में दोपहर 12 बजे तक मात्र 1.5 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।वहीं, दोपहर तक लद्दाख में करीब 30 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

अनंतनाग के शोपियां, वाची, राजपुरा, पुलवामा, त्राल क्षेत्रों में शायद ही कोई मतदाता मतदान केंद्र पर पहुंचा हो।

आतंकवादियों द्वारा रोहमू में मतदान केंद्र के बाहर ग्रेनेड हमला करने से स्थिति तनावपूर्ण हो गई। हालांकि इस हमले में कोई नुकसान नहीं हुआ, लेकिन मतदाताओं में डर जरूर बैठ गया।

त्राल में भी मतदान केंद्र के बाहर रहस्यमयी विस्फोट की सूचना मिली है। पुलिस ने बताया कि वे इसकी जांच कर रहे हैं।

अनंतनाग के शोपियां में दोपहर तक 3.1 प्रतिशत, पंपोर में 2.6 प्रतिशत, वाची में 1.4 प्रतिशत, राजपुरा में 0.9 प्रतिशत, त्राल में 0.5 प्रतिशत और पुलवामा में 0.4 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया ।

अधिकारियों ने बताया कि लद्दाख और अनंतनाग निर्वाचन क्षेत्र में दोपहर 12 बजे तक कुल मिलाकर 8.4 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

यह आंकड़ा लद्दाख में 29.5 प्रतिशत मतदान की वजह से संभव हो सका।

अनंतनाग निर्वाचन क्षेत्र के शोपियां और पुलवामा जिले में करीब 522,530 मतदाता सोमवार को मतदान करने के योग्य हैं। वहीं लद्दाख के लेह और कारगिल में 174,618 मतदाता मतदान करने के योग्य हैं।

अलगाववादियों ने शोपियां और पुलवामा में चुनाव का बहिष्कार करने के साथ ही बंद का ऐलान किया है। इन दोनों जगहों के मतदान केंद्रों पर सन्नाटा पसरा हुआ है।

हालांकि दोनों लोकसभा सीटों पर सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ लेकिन अनंतनाग क्षेत्र में मतदान प्रक्रिया शाम चार बजे और लद्दाख में शाम छह बजे समाप्त होगी।

अनंतनाग में 18 प्रत्याशी मैदान में हैं लेकिन मुख्य मुकाबला पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की महबूबा मुफ्ती, कांग्रेस के गुलाम अहमद मीर और नेशनल कांफ्रेस के हसनैन मसूदी (सेवानिवृत्त न्यायाधीश) के बीच है।

शोपियां जिले के पहाड़ी गांव शाहदाब करेवा में अच्छी संख्या में मतदाता नजर आए।

लद्दाख में भाजपा उम्मीदवार जम्यांग त्सेरिंग नामग्याल, कांग्रेस के रिगजीन स्पालबार और दो निर्दलीय उम्मीदवारों हाजी असगर अली करबलाई और सज्जाद हुसैन के बीच मुकाबला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.