कुशीनगर: पीड़िता के परिवार का दावा, पंचायत ने 20 हज़ार लगाई बेटी की आबरू की कीमत

0
100

कुशीनगर: कुशीनगर में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है जहां एक गांव की पंचायत ने छात्रा के आबरू की कीमत बीस हजार रुपये लगाई है. बलात्कार पीड़िता अपने परिवार के साथ न्याय के लिए दस दिन से थाने का चक्कर लगा रही थी लेकिन थानाध्यक्ष ने मुकदमा दर्ज करना मुनासिब नहीं समझा. आज पीड़िता और उसके पिता ने जब पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई तब जाकर पुलिस अधीक्षक ने मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया.

पीड़िता के परिवार का आरोप है कि गांव में बलात्कार को लेकर बकायदे पंचायत कराई गई और पंचायत में उसकी आबरू की कीमत 20 हज़ार लगा दी गई. परिवार वालों का भी ये भी आरोप है कि थानेदार ने थाने में सादे कागज पर अंगूठा लगवा कर समझौता करा दिया. लेकिन जब पीड़िता न्याय के लिए पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाई तो उन्होंने जांच का आदेश दे दिया.

दरअसल कुशीनगर जनपद के एक गांव मे 22 मई की रात में कक्षा 6 में पढ़ने वाली छात्रा को उसी के गांव के बगल में रहने वाले दो युवक मोटरसाइकिल पर उठा ले गए और रात भर हैवानों की तरह नोचते रहे फिर सुबह 4 बजे उसे छोड़ दिया. घर मे परेशान  उसकी मां अपनी बेटी की राह देखती रही. जैसे ही सुबह वह घर पहुचीं उसने अपनी आप बीती अपने मां को बताई. तो छात्रा की मां अपनी बेटी के साथ हुई घटना की तहरीर थानाध्यक्ष को दी.

पीड़िता के परिवार का आरोप है कि थानाध्यक्ष को तहरीर मिलने के बाद गांव मे पंचायत का खेल शुरू हो गया. पंचायत में गांव के कुछ लोग शामिल हुए और उसमें इसकी आबरू की कीमत बीस हजार रुपए लगाई गई और यह शर्त रखी गई कि पीड़िता व उसका परिवार अपना मुंह नही खोलेगा. पीड़िता की मानें तो इस पंचायत की बकायदे वीडियो भी बनाई गई और बाद में पैसा भी छीन लिया गया.

इस पंचायत को पीड़िता की मां ने मानने से इनकार करते हुए यह सारी बात अपने अपने पति को बताई. मजदूरी करके गुजारा करने वाले इस परिवार के मुखिया ने समझौता न मानकर न्याय की उम्मीद में थाने में दोबारा तहरीर दी. पीड़िता के परिवार का कहना है कि  पंचायत के बाद दोबारा तहरीर मिलने के बाद थानाध्यक्ष भड़क गए और पीड़िता और उसके पिता को जबरदस्ती थाने में बुलवाकर सादे कागज पर अंगूठा लगवा दिया. थानाध्यक्ष ने भी मारपीट का भय दिखाकर समझौता लिखवा दिया और इस गरीब परिवार को मुंह नहीं खोलने की हिदायत दे दी.

थाने पर न्याय नहीं मिलने पर पीड़िता का पिता अपनी नाबालिग बेटी के साथ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच कर अपनी आपबीती बताई. पुलिस अधीक्षक ने मामले का संज्ञान लेकर आनन फानन में तुरंत मुकदमा दर्ज करने जांच का आदेश दिया.

इस मामले में पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ऐसा मामला हमारे संज्ञान में आया है . एक शख्स ने आवेदन दिया है जिसमें उसकी पुत्री के साथ दुष्कर्म की बात कही गई है. उसने एक युवक पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए प्रार्थना पत्र दिया हैं. इसपर संबंधित थाने को मामला दर्ज करने का आदेश दिया गया है और अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए टीम भेज दी गई है. विधिवत कार्रवाई की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.