चैम्पियंस लीग : लिवरपूल 14 साल बाद बना चैम्पियन

0
299

मेड्रिड, जुर्गेन क्लॉप के मार्गदर्शन में इंग्लिश क्लब लिवरपूल ने शनिवार रात यहां टॉटेनहम हॉटस्पर को 2-0 से मात देकर 14 साल बाद छठीं बार यूरोपीय चैम्पियंस लीग का खिताब जीता।लिवरपूल के लिए इस ऐतिहासिक जीत में मोहम्मद सलाह और डिवोक ओरिगी ने अहम भूमिका निभाते हुए गोल किए।

इंग्लिश क्लब ने 14 साल बाद यह खिताब अपने नाम किया है। उसने इससे पहले 1977, 1978, 1981, 1984, और 2005 में चैम्पियन बनने का गौरव हासिल किया था।

समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, लिवरपूल 2012 के बाद यह खिताब जीतने वाली पहली इंग्लिश टीम है। 2012 में चेल्सी ने इस प्रतियोगिता को जीता था। 

वर्ष 2008 के बाद पहली बार ऐसा मौका था जब दो इंग्लिश टीमें इस प्रतियोगिता के फाइनल में भिड़ रही हो। 2008 में चेल्सी और मैनचेस्टर युनाइटेड के बीच फाइनल हुआ था, जिसमें युनाइटेड ने जीत दर्ज की थी। 

पिछले साल भी लिवरपूल ने चैम्पियंस लीग के फाइनल में जगह बनाई थी, लेकिन स्पेनिश दिग्गज रियल मेड्रिड ने उसे हरा दिया था। हालांकि, इस बार जीत दर्ज करते हुए लिवरपूल ने पिछले पांच साल से चले आ रहे रियल और एफसी बार्सिलोना के दबदबे को भी तोड़ा। 

रियल ने चैम्पियंस लीग खिताब सर्वाधिक 13 बार जीता है। एसी मिलान ने सात बार जीता है जबकि तीसरे नंबर पर लीवरपूल आ गया है। इस जीत के साथ लिवरपूल ने बायर्न म्यूनिख और एफसी बार्सिलोना (दोनों 5-5) बार को पीछे छोड़ दिया है।

वांडा मेट्रोपोलिटानो में हुए मैच में चोट से जूझ रहे हैरी केन और रोबटरे फिर्मिनो ने वापसी की। 

लिवरपूल की शुरुआत दमदार रही और उसे पहले मिनट में ही पेनाल्टी मिल गई। 18 गज के बॉक्स में सादियो माने ने अपने साथी को पास देने का प्रयास किया और गेंद मिडफील्डर मूसा सिसोको के हाथ में लगी जिसके कारण रैफरी ने पेनाल्टी स्पॉट की ओर इशारा किया। 

सलाह ने गेंद को गोल में डालकर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। 

हालांकि, इस तेज शुरुआत के बाद पहले हाफ में दोनों टीमों धीमे टेम्पो के साथ फुटबाल खेली और गोल पर अधिक अटैक भी नहीं किया। 

दूसरे हाफ की शुरुआत से टॉटेनहम ने आक्रामक रुख अपनाने का प्रयास किया। 58वें मिनट में ओरिगी मैदान पर आए जबकि 65वें मिनट में मॉरिसियो पोचेटिनो ने लुकस मोरुआ को मौका दिया। 

मैच के 80वें मिनट में सोन ह्यूंग-मिन को शानदार मौका मिला, लेकिन गोलकीपर एलिसन ने बेहतरी बचाव किया। सात मिनट बाद ओरिगी ने बॉक्स के अंदर से गोल करते हुए लिवरपूल की जीत सुनिश्चित कर दी। 

जर्मन क्लब बोरुशिया डॉर्टमंड के साथ 2013 में चैम्पियंस लीग फाइनल हारने के बाद क्लॉप पहली बार कोई ट्रॉफी जीतने में कामयाब हो पाए हैं। लिवरपूल के साथ यह उनकी पहली ट्रॉफी है। 

पोचेटिनो को हालांकि, अभी भी टॉटेनहम के साथ पहले खिताब की तलाश है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.