MeToo: तनुश्री दत्ता ने पुलिस पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- गवाहों को दी गई धमकी

0
50

भारत में मीटू मुहिम को एक अलग मुकाम तक लेकर जाने वाली एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता का अब अपने केस को लेकर बयान सामने आया है. बीते रोज पुलिस ने उनके द्वारा एक्टर नाना पाटेकर के खिलाफ दर्ज की गई शिकायत मामले में क्लोजर रिपोर्ट दायर कर दी है.

इस मामले में पुलिस की ओर से नाना पाटेकर के लिए राहत की खबर आई है. पुलिस का कहना है कि उसे नाना पाटेकर के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं मिले हैं. मुंबई पुलिस ने गुरुवार को अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा अभिनेता नाना पाटेकर के खिलाफ मीटू मुहिम के तहत दायर यौन उत्पीड़न मामले में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल कर दी.

क्या कह रही है पुलिस 

इस मामले में दायर की गई अपनी क्लोजर रिपोर्ट पर पुलिस का कहना है कि उनके पास नाना पाटेकर के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं है. मुंबई पुलिस के प्रवक्ता व पुलिस उपायुक्त मंजुनाथ शिंगे ने कहा, “हां, हमने अदालत के समक्ष बी-समरी रिपोर्ट दाखिल की है.”

पुलिस ने कथित तौर पर पर्याप्त सबूत नहीं मिलने के बाद यह कदम उठाया है. इसके साथ ही इस मामले को एक तरह से खत्म कर दिया गया है क्योंकि पुलिस का रुख है कि वह आगे मामले में जांच जारी नहीं रख सकती.

पुलिस की रिपोर्ट को देंगे चुनौती 

वहीं, अब इस मामले तनुश्री दत्ता के वकील नितिन सतपुते ने कहा कि वह इस मामले में पुलिस के उठाए कदम को चुनौती देंगे. सतपुते ने कहा, “यदि पुलिस समरी रिपोर्ट के किसी भी बी या सी वर्गीकरण को दर्ज करती है, तो वह अंतिम नहीं हो सकती. हम न्यायालय के समक्ष इसका विरोध करेंगे. सुनवाई के बाद, यदि अदालत संतुष्ट हुई तो वह पुलिस को फिर से जांच करने का निर्देश दे सकती है.”

उन्होंने पुलिस पर पूरे मामले में कई अन्य गवाहों के बयान दर्ज न करने और ‘आरोपी की सुरक्षा के लिए’ केवल ‘एक या दो’ गवाहों के बयानों पर भरोसा करने को लेकर निशाना साधा और मामले में ठीक से जांच नहीं करने का आरोप लगाया. सतपुते ने कहा, “इस सबके मद्देनजर हम बी समरी रिपोर्ट का विरोध करेंगे और बॉम्बे उच्च न्यायालय के समक्ष एक रिट याचिका भी दायर करेंगे.”

तनुश्री दत्ता ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

तनुश्री दत्ता ने गुरुवार को एक बयान में कहा, “हमारे गवाहों को डराया धमकाया गया है और मामले को कमजोर करने के लिए नकली गवाहों को रखा गया है. जब मेरे सभी गवाहों ने अभी तक अपने बयान दर्ज नहीं किए हैं, तो बी समरी रिपोर्ट दाखिल करने के लिए क्या हड़बड़ी थी? मैं बिल्कुल भी हैरान नहीं हूं और ना ही आश्चर्य में हूं, भारत में एक महिला होने के नाते यह एक ऐसी चीज है, जिसकी हम सभी को आदत है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.