श्रीनगर के उपमहापौर, बैंक और सरकारी अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी

0
123

श्रीनगर, जम्मू एवं कश्मीर के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने उपमहापौर शेख इमरान की कंपनी केहवा समूह को अवैध रूप से लाभ पहुंचाने के लिए करोड़ों रुपये की सब्सिडी का गबन करने के मामले में शनिवार को उपमहापौर, जम्मू एवं कश्मीर बैंक के अधिकारियों और सरकारी अधिकारियों के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की।शेख इमरान श्रीनगर नगर निगम के उपमहापौर हैं। 

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने एक बयान में कहा, “भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत एफआईआर संख्या 3/2019 एसीबी पुलिस थाना अनंतनाग में दर्ज किया गया है।”

मेसर्स केहवा स्क्वेयर प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक शेख इमरान, जेएंडके बैंक के अधिकारी और अन्य सरकारी अधिकारियों के खिलाफ पुलवामा के लस्सीपोरा में कोल्ड स्टोरेज की स्थापना के लिए बदली गई परियोजना लागत के साथ सब्सिडी के अवैध विनियोग को लेकर मामला दर्ज किया गया है।

बयान में कहा गया है कि मेसर्स केहवा स्क्वेयर प्राइवेट लिमिटेड ने जम्मू एवं कश्मीर बैंक के अधिकारियों और कुछ राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ मिलकर 16.50 करोड़ रुपये की सरकारी सब्सिडी का गबन करने और विभिन्न लेन-देन के लिए कोल्ड स्टोरेज स्थापित करने की परियोजना लागत को बढ़ाई।

एसीबी के अधिकारी ने कहा, “समूह को जम्मू एवं कश्मीर बैंक के साथ 138 करोड़ रुपये का ऋण मिला और 78 करोड़ रुपये का पुनर्गठन किया गया। बैंक अधिकारियों द्वारा एकमुश्त निपटान (ओटीएस) के बाद सरसरी तौर पर सहमति के बाद, समूह की 55 करोड़ रुपये की दूसरी किश्त को घटाकर 27 करोड़ रुपये कर दी गई। इसके बाद उसने बैंक से और रियायतें मांगी।”

उन्होंने कहा, “संलिप्त बैंक अधिकारियों और सरकारी अधिकारियों के एक संयुक्त निरीक्षण दल ने केहवा समूह को अनुचित मौद्रिक लाभ प्रदान करने के लिए अपने पद का दुरुपयोग किया और सरकारी खजाने से समूह की अवैध रूप से उचित करोड़ों रुपये की मदद की।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.