Doctors Strike Live Updates: ममता बनर्जी ने कहा- जरूरी कदम उठाने के लिए हम पूरी तरह से तैयार

0
139

नई दिल्ली, पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल आज भी जारी है। दो जूनियर डॉक्टरों से मारपीट के बाद शुरू हुई हड़ताल का असर बंगाल से लेकर दिल्ली तक देखने को मिल रहा है। देश के 19 से ज्यादा राज्यों के डॉक्टरों ने हड़ताल का खुलकर समर्थन किया है। कुछ ही देर में पश्चि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रेस कांफ्रेस करने वाली हैं।

इसके पहले स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने राज्य के सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर डॉक्टरों संग दुर्व्यहार करने वाले लोगों पर कार्रवाई को कहा था। इसी बीच दिल्ली AIIMS के रेजिडेंट डॉक्टर्स हड़ताल खत्म कर अपने काम पर वापस लौट आएं हैं, लेकिन उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को मांगे पूरी करने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है।

Live Updates:

– पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शाम 6 बजे प्रेस कांफ्रेंस करेंगी।  संभावना जताई जा रही है कि चल रही डॉक्टरों की हड़ताल को लेकर वो कोई बड़ा ऐलान कर सकती हैं।

– स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने आज सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा है। डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। 

– देशभर में डॉक्‍टर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने राजनीतिक हिंसा को रोकने के लिए किए गए उपायों पर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है और अपराधियों को पकड़ने के लिए ऐसी घटनाओं की जांच करने के लिए कहा है।

– दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के रेजिडेंट डॉक्टर हेलमेट पहनकर मरीजों का इलाज कर रहे हैं।

 दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक वीके तिवारी ने बताया कि आज रेजिडेंट डॉक्टर हड़ताल पर हैं। उन्होंने केवल ओपीडी और वार्डों में काम बंद किया है, आपातकालीन सेवाएं सामान्य रूप से चल रही हैं।

– डॉक्टरों से हिंसा को लेकर कोलकाता के एनआरएस अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों का प्रदर्शन पांचवें दिन भी जारी है।

– इंडियन मेडिकल असोसिएशन (IMA) के प्रतिनिधिमंडल ने पश्चिम बंगाल में चल रही डॉक्टरों की हड़ताल पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से मुलाकात की।

– हड़ताल कर रहे जूनियर डॉक्टरों ने कहा है कि वे शाम को राज्य सचिवालय में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा बुलाए गए बैठक में शामिल नहीं होंगे।

– एम्स रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह मल्ही ने कहा है कि सभी रेजिडेंट डॉक्टर काम पर वापस आ गए हैं, लेकिन हम काले बैज, पट्टियाँ और हेलमेट पहनकर सांकेतिक विरोध जारी रखेंगे। अगर हालत बिगड़े तो हम 17 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

– डॉक्टर्स असोसिएशन ने कहा है कि हम पश्चिम बंगाल सरकार को हड़ताल कर रहे डॉक्टरों की मांगों को पूरा करने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम दे रहे हैं। अगर सरकार नाकाम रहती है तो हमें एम्स में अनिश्चितकालीन हड़ताल करने पर मजबूर होना पड़ेगा।

AIIMS रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन की मांगें

– पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों पर राजनीतिक से प्रेरित हमले रोकने के लिए केंद्र सरकार हस्तक्षेप करे।
– देश भर के अस्पतालों में एक समान सुरक्षा कोड लागू किया जाए और वार्डो में तीमारदारों को प्रवेश देने के लिए एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेशन प्रोसिजर) बनाया जाए।
-अस्पतालों में सुरक्षा गार्ड बढ़ाए जाएं, बंदूकधारी गार्ड भी तैनात किए जाएं।
-मेडिकल कॉलेजों के छात्रवास में सुरक्षा बढ़ाई जाए।
-सभी अस्पतालों में सीसीटीवी की सुविधा हो, खासतौर पर इमरजेंसी में।
– अस्पतालों में सुरक्षा के लिए हॉटलाइन अलार्म सिस्टम लगाया जाए।
– सुरक्षा की नियमित समय पर समीक्षा की जाए।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.