पाकिस्तानी सीमा पर युद्ध से निपटने के लिए तैनात होंगे भारतीय सेना के ‘इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स’

0
40

नई दिल्ली,  पाकिस्तान की ओर से पाकिस्तानी सीमा के पास लगातार बढ़ रहे युद्ध के खतरों को देखते हुए भारतीय सेना एक खास योजना बनाने जा रही है। युद्ध की स्थिति में कैसे दुश्मनों के खिलाफ खास रणनीति बनाकर उन्हें हराया जा सकता है, भारतीय सेना इसके लिए घातक युद्ध रणनीति अक्टूबर तक बनाने की तैयारी कर रही है।

इस खास घातक युद्ध फॉर्मेशन को इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) नाम दिया जा रहा है, जिसे पहले पाकिस्तानी सीमा के पास लगाया जाएगा, इसके बाद धीरे-धीरे इसे चीनी सीमा के पास भी तैयार किया जाएगा।  सेना के विशिष्ट सूत्रों के मुताबिक, ‘हमने पूर्वी कमांड के अंतर्गत इस खास युद्धक रणनीति इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) का अभ्यास किया है। युद्धक फॉर्मेशन टीम और टॉप कमांडरों ने इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups)के अभ्यास को लेकर सकारात्मक फीडबैक दिया है और इसे बेहतरीन बताया है। इस वजह से हम इस साल के अंत यानि अक्टूबर तक पाकिस्तानी सीमा के पास ऐसे 2 से 3 इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) बनाने की तैयारी कर रहे हैं।

सेना के सूत्रों ने बताया कि इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) के अभ्यास और उसके फीडबैक को लेकर पिछले हफ्ते विस्तार से चर्चा हुई, आर्मी हेडक्वार्टर में हुई बैठक में 7 आर्मी कमांडरों ने भाग लिया। इस बैठक में कमांडर-इन-चीफ को ये निर्देश दिए गए कि वो अपने-अपने इलाकों में इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) का निर्माण कराएं। पहले तीन इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) पूर्वी कमांड की फॉर्मेशन की तर्ज पर बनाए जाएंगे। 

इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) के सेना में शामिल होने के बाद सेना की ताकत और बढ़ जाएगी और सेना पहले से कहीं ज्यादा बेहतर हो जाएगी। इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) के सेना में शामिल होने के बाद सेना की ताकत और बढ़ जाएगी और सेना पहले से कहीं ज्यादा बेहतर हो जाएगी।इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत की उस खास रणनीति का हिस्सा है, जिसमें वो सेना को ज्यादा प्रभावशाली और खतरनाक बनाना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.