मुंबई: वेब सीरीज ‘फिक्सर’ की शूटिंग में गुंडों का हमला, बाल-बाल बचीं अभिनेत्री माही गिल

0
187

मुंबई: ‘देव डी’ और ‘साहिब बीवी और गैंगस्टर’ जैसी कई फिल्मों में अभिनय कर लोकप्रियता हासिल करने वाली अभिनेत्री माही गिल आज जब अपनी पहली वेब सीरीज ‘फिक्सर’ के सेट पर क्लाइमैक्स की शूटिंग कर रहीं थीं, तो उन्हें नहीं पता था कि चार गुंडे उनके सेट पर घुस आएंगे और वो इस हमले में बाल बाल बच जाएंगी. मुंबई के पास ठाणे के घोड़बंदर रोड इलाके में एक शिपयार्ड में वेब सीरीज़ की शूटिंग के दौरान जब हमला हुआ, तो उस वक्त माही गिल के अलावा, शो में अभिनय कर रहे तिग्मांशु धूलिया, टीवी अभिनेता शब्बीर आहलूवालिया भी मौजू्द थे.

घटना शाम लगभग 4.30 बजे की है. लोकेशन पर घुसकर उत्पाद मचाने वालों के हाथों में रॉड और डंडे थे. लोकेशन पर शूटिंग की परमिशन न होने का हवाला देकर इन चारों गुंडों ने वहां कई लोगों को पीटा. ये गुंडे रॉड और डंडे लेकर आए थे और जो दिखा सभी पर हमला करते चले गए. इस हमले में वेब सीरीज़ के डीओपी (डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी) संतोष थुड़ियाल के सिर पर गंभीर चोटें आईं और उन्हें छह टांकें लगाने पड़े. अजय देवगन, विवेक ओबेरॉय और लारा दत्ता को लेकर 2006 में फ़िल्म ‘काल’ का निर्देशन कर चुके सोहम शाह ऑल्ट बालाजी द्वारा प्रोड्यूस किए जा रहे वेब सीरीज़ ‘फिक्सर’ के निर्देशक हैं. उन्हें भी बुरी तरह से मारा-पीटा गया और पीछे से किए गए जोरदार वार में उन्हें भी पीठ में अंदरूनी चोटें आईं हैं. हमले‌ के बाद वो जमीन पर गिर गए और कुछ देर के लिए बेहोश हो गए थे.

इसके अलावा, अभिनेत्री माही गिल के ड्राइवर कम बॉडीगार्ड को भी खूब मारा-पीटा गया. माही गिल ने न्यूज़ से खास बातचीत करते हुए कहा, “सेट पर अचानक हुए हमले से हम सभी हड़बड़ा से गए थे और पहले तो मुझे कुछ समझ ही नहीं आ रहा था कि क्या कुछ हो रहा है. उन गुंडों को जो कोई भी सामने दिख रहा था, वो मारने के लिए दौड़े रहे थे. एक गुंडा मेरी तरफ भी दौड़ा, मगर सेट पर किसी ने जोर से ‘लेडीज… लेडीज…’ की आवाज लगाई और फिर वो गुंडा किसी और तरफ मुड़ गया. वर्ना जाने मेरा क्या होता.”

माही ने आगे जानकारी देते हुए बताया, “इसके बाद सेट के लोगों ने फौरन मुझे अपनी कार में बिठा दिया क्योंकि मेरी वैनिटी वैन को भी इन लोगों ने तोड़ दिया था.” माही ने एबीपी न्यूज़ को भी जानकारी दी कि उनके ड्राइवर कम बॉडीगार्ड को भी नहीं बख्शा गया और उसके एक हाथ में गंभीर चोटें आईं हैं.

सोहम शाह ने एबीपी न्यूज़ से कहा कि उनपर पीछे से हमला हुआ और वो एकदम से जमीन पर गिर गए. उन्होंने कहा कि हमले के वक्त ये गुंडे किसी की नहीं सुन रहे थे और बार-बार ये बताए जाने के बावजूद कि उनके पास शूटिंग करने की सभी परमिशन है, फिर भी वो सभी को बेरहमी से मारे जा रहे थे.

वेब सीरीज के निर्माता साकेत स्वहाने ने न्यूज़ से बातचीत के दौरान कहा कि गुंडों ने न सिर्फ़ कई लोगों को आंख बंद करके मारा, बल्कि वहां खड़ी वैनिटी वैन्स, कारों, कैमरा के फिल्टर्स आदि को भी तोड़ डाला. साकेत ने बताया इस हमले के बाद पुलिस वहां पर आई और आकर उन्हें ही शूटिंग की परमिशन नहीं होने की बात कहकर उनसे 50,000 रुपए ले गए और शूटिंग का सामान छुड़ाने के लिए कासरवडवली पुलिस थाने में आने की बात कही.

साकेत का कहना है कि इतना बड़ा हमला होने के बाद भी पुलिस उनकी शिकायत पर गौर नहीं कर रही और उन्हीं से उगाही करने में जुटी है. उन्होंने कहा कि एक निर्माता के तौर पर इस हमले में उन्हें कम से कम 18 से 20 लाख का नुकसान हुआ है. इस बीच, इस मामले में फेडरेशन ऑफ़ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्ललॉइज़ (FWICE) और अन्य फिल्म संस्थाओं ने इस मामले में दखल दिया है और इस हमले की निंदा की है.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.