NIA को और मिलेगी ताकत, कानूनों में संशोधन के प्रस्‍ताव को केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दी

0
118

नई दिल्‍ली, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत और विदेशों में आतंकी मामलों की जांच के लिए NIA को और मजबूती देने के दो कानूनों में संशोधन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। आने वाले दिनों में एनआईए एक्‍ट (NIA Act) और गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून (Unlawful Activities, Prevention Act) में संशोधन को लेकर अलग अलग विधेयकों को संसद में पेश किया जाएगा।  

सूत्रों ने बताया कि इन संशोधनों से एनआईए साइबर अपराधों (cybercrimes) और मानव तस्‍करी (human trafficking) के मामलों की जांच कर पाएगी। साथ ही गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून की अनुसूची चार (Schedule 4 of the UAPA) में संशोधन से एनआईए उस संदिग्‍ध को आतंकवादी घोषित कर पाएगी जिस पर आतंकवाद से संबंध होने का संदेह होगा। 

अब तक केवल संगठनों को आतंकी संगठन के रूप में घोषित किया जाता है। साल 2017 से ही केंद्रीय गृह मंत्रालय दो कानूनों को और मजबूत बनाने पर विचार कर रहा है ताकि एनआईए को और ताकत मिल सके। इसमें विशेष तौर पर साइबर अपराध और किसी व्यक्ति को आतंकी घोषित करने का अधिकार शामिल है क्योंकि इनमें बहुत तेजी से बढ़ोतरी देखी जा रही है। बता दें कि एनआईए का गठन मुंबई आतंकवादी हमले के बाद साल 2009 में किया गया था। इस हमले में 166 लोगों की मौत हुई थी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.