नोएडा: महिला सुरक्षा को लेकर सख्त हुआ एंटी-रोमियो स्क्वॉड, मनचलों को जारी किए जाएंगे ‘रेड कार्ड’

0
60

नई दिल्ली: नोएडा पुलिस अब फुटबाल के रेफरी की तरह रेड कार्ड लेकर चलेगी. एंटी-रोमियो स्क्वॉड द्वारा जारी ये कार्ड उन लोगों को दिया जाएगा जो पब्लिक प्लेस या कालेजों में महिलाएं पर टिप्पणी या छेड़छाड़ करते पकड़े जाएंगे. ये रेड कार्ड चेतावनी के तौर पर दिए जाएंगे. उन लोगों के खिलाफ जिन्हें पहले रेड कार्ड जारी किए जा चुके हैं वो अगर दोबारा कुछ ऐसा करते पकड़े गए तो उनके खिलाफ आपराधिक कार्यवाही की जाएगी.

महिलाओं को छेड़छाड़ और सड़क पर उत्पीड़न से बचाने के लिए, अपराध की अधिक संभावना वाले क्षेत्रों की पहचान करने के लिए पुलिस लोगों से प्रतिक्रिया भी मांगेगी. ये कदम उन लोगों पर लगाम लगाने के लिए उठाया गया है जो पब्लिक प्लेस पर लड़कियों पर फब्तियां कसते हैं या अपमानजनक भाषा का प्रयोग करते हैं.

सूरजपुर स्थित एसएसपी ऑफिस में एसपी देहात विनीत जायसवाल ने सीओ व सभी थानों के कोतवाल प्रभारियों के एंटी रोमियो स्क्वाड को प्रभावी बनाने के लिए मीटिंग की. ये फैसला एसएसपी मीटिंग में लिया गया. ये रेड कार्ड मनचलों के लिए अंतिम चेतानवी होगी. टीम किसी भी शख्स से सवाल कर सकती है जो इस तरह की गतिविधियां करते पाए जाएंगे. इस कार्ड में शक्स का पूरा विवरण होगा, जिसमें उसका पता और नंबर शामिल हैं. इसे भविष्य के रिकॉर्ड के लिए सुरक्षित भी रखा जाएगा ताकि जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल किया जा सके.

एसपी (ग्रामीण) विनीत जायसवाल ने कहा कि ये कार्ड महिलाओं को असुरक्षित महसूस करने वाले लोगों को दिया जाएगा. लाल कार्ड ये बताने का काम करेगा कि किसी महिला पर अपमानजनक टिप्पणी करना या उसका पीछा करना अपराध है और इसके लिए आप जेल भी जा सकते हैं.

पुलिस गुरुवार से स्कूलों और कॉलेजों में फीडबैक फॉर्म बांटेगी और,महिलाओं से उन क्षेत्रों के बारे में सुझाव मांगेगी जहां-एंटी-रोमियो स्क्वॉड’की जरूरत है. उसके बाद इन क्षेत्रों में टीमों को तैनात किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.